जयपुर के 3 निशानेबाज 2020 टोक्यो ओलंपिक में भाग लेकर शहर का नाम गौरवान्वित करेंगे। इस वर्ष टोक्यो ओलंपिक 23 जुलाई से शुरू होने वाला है। जबकि अपूर्वी चंदेला और दिव्यांश सिंह पंवार 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में हिस्सा लेंगे,अवनि लेखारा (पैरा) 50 मीटर एयर राइफल में देश की उपस्थिति दर्ज करेंगे। देश के लिए स्वर्ण पदक जीतने के उद्देश्य से तीनों एथलीट असाका शूटिंग रेंज में निशानेबाजी करेंगे।

सभी 3 निशानेबाजों ने जयपुर में OASES शूटिंग रेंज में ट्रेनिंग ली

अपूर्वी चंदेल


विशेष रूप से, तीनों खिलाड़ियों ने जयपुर के प्रसिद्ध OASES विश्व स्तरीय शूटिंग रेंज से अपनी यात्रा शुरू की, जिसकी देखरेख राजस्थान राइफल एसोसिएशन द्वारा की जाती है। कुछ बेहद सफल निशानेबाजों का स्थल होने के अलावा, यह परिसर एनुअल स्टेट ओपन शूटिंग चैम्पियनशिप भी आयोजित करता है।

जयपुर के खिलाड़ियों में, चंदेला ने कई उपलब्धियों और व्यापक प्रशंसा हासिल की है। पूर्व विश्व चैंपियन रह चुकीं अपूर्वी ने वर्ष 2014 में ग्लासगो में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था। इसके अलावा, अनुभवी खिलाड़ी ने पिछले ओलंपिक में भी भाग लिया है और इस बार देश का नाम रोशन करना चाहती है।

दिव्यांश सिंह पंवार


इसी तरह, दिव्यांश सिंह पंवार ने बार-बार अपनी योग्यता साबित की है और उनकी उपलब्धियों में 2019 ISSF विश्व कप में 10 मीटर एयर इवेंट में रजत पदक शामिल है। 18 वर्षीय खिलाड़ी इस समय दुनिया में दूसरे नंबर पर है।

अवनि लेखरा


दूसरी ओर, लेखरा अपने क्षेत्र में समान रूप से निपुण हैं, 2015 और 2016 की राष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। इसके अतिरिक्त, उन्होंने 2017 में दुबई में आईपीसी पैरा शूटिंग विश्व कप में रजत पदक जीता था।

"एक गौरवशाली क्षण की आशा के साथ"

राजस्थान राइफल एसोसिएशन के महासचिव शशांक कौरानी ने कहा, "हम सभी उम्मीद कर रहे हैं कि जयपुर के ये 3 निशानेबाज हमें ओलंपिक पदक दिलाएंगे। राजस्थान में निशानेबाजी के खेल का एक गौरवशाली इतिहास है और मुझे लगता है कि हम एक गौरवशाली क्षण की आशा कर रहे हैं।"

उल्लेखनीय रूप से, राज्य खेल के क्षेत्र में शानदार उदाहरणों से भरा हुआ है, जिसमें डॉ कर्णी सिंह बीकानेर (5 ओलंपिक में भाग लिया), केशव सेन, देवी सिंह, भीम सिंह कोटा और कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर जैसे पूर्व ओलंपियन निशानेबाज शामिल हैं, जिन्होंने 2004 में एथेंस ओलंपिक में रजत पदक जीता था। इसके अलावा जयपुर की शगुन चौधरी ने 2012 के लंदन ओलंपिक में भाग लिया था।