जरूरी बातें 

’इन्वेस्ट राजस्थान 2022′ (Invest Rajasthan 2022) से पहले हर ज़िले में होगा सम्मलेन।
छोटे निवेशकों को सरकार के साथ संगठित होने का मिलेगा मौका।
एमओयू (MOU) और एलओआई (LOI) द्वारा मिलेंगे नए अवसर।
अधिकारी राज्य में सक्रिय निवेशकों और निवेशकों के समूहों तक पहुंच रहे हैं।
विभिन्न सेक्टरों से मिली है सकारात्मक प्रतिक्रिया।

राज्य में छोटे स्वदेशी व्यवसायों को बढ़ावा देने की राह में राज्य में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय निवेश शिखर सम्मेलन ‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022’ (Invest Rajasthan 2022) के शुभारंभ से पहले प्रशासन ने यह फैसला लिया है की वो प्रत्येक ज़िले में सम्मेलनों का आयोजन करेंगे। प्रशासन द्वारा लिए गए इस फैसले से छोटे निवेशकों को सरकार के साथ संगठित होने का मौका मिलेगा।  राज्य में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय निवेश शिखर सम्मेलन ‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022’ के माध्यम से इन छोटे निवेशकों को एमओयू (MOU) और एलओआई (LOI) के द्वारा नए अवसर मिलेंगे। रिपोर्ट के अनुसार, सम्मेलनों की श्रंखला में होने वाले पहले सम्मलेन का आयोजन भीलवाड़ा में 15 दिसंबर को किया जायेगा। 

माइक्रो इन्वेस्टमेंट के द्वारा करा जायेगा बड़े स्तर पर विकास

राज्य में विकास को गति देते हुए, पूरे राजस्थान में होने वाले ज़िला स्तरीय सम्मेलनों के माध्यम से असंगठित, छोटे और सूक्ष्म उद्योगों के लिए निवेश किया जायेगा। इसी के चलते राज्य में  आगामी ‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022’ (Invest Rajasthan 2022) शिखर सम्मेलन राज्य में विभिन्न उद्योगों और उनके बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देगा। कथित तौर पर राजस्थान में निवेश के नए रास्ते तलाशने के लिए अधिकारी राज्य में सक्रिय निवेशकों और निवेशकों के समूहों तक पहुंच रहे हैं। अधिकारीयों के अनुसार वो राज्य के जातीय प्रवासियों तक भी अपनी पहुंच बना रहे हैं। प्रशासन इस अवसर को राज्य में निवेश को तेज़ करने की राह में एक अहम् कदम के तौर पर देख रहा है।

आयोजन को सुपर हिट बनाने के लिए जारी हैं तैयारियां 

बीते सोमवार को जिला उद्योग केन्द्र (District Industries Center) के अधिकारीयों ने जयपुर में आयोजित राज्य समीक्षा बैठक में एमओयू (MOU) और एलओआई (LOI) का ख़ाका प्रस्तुत किया। अधिकारीयों ने जिलों में निवेश की संभावनाओं अथवा आयोजन की तैयारियों से सम्बंधित जानकारी भी साझा करी। रिपोर्ट के मुताबिक इस चर्चा में सचिव उद्योग, जीओआर (GoR), आयुक्त उद्योग और वाणिज्य, अतिरिक्त आयुक्त ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टमेंट और अन्य वरिष्ठ विभाग के अघिकारी भी मौजूद थे। 

राजस्थान सरकार की इंडस्ट्री और कॉमर्स (Industry and Commerce) की कमिश्नर अर्चना सिंह ने कहा की, “यह कार्यक्रम, औद्योगिक संगठनों और राजस्थान सरकार का प्रत्येक जिले में स्वामित्व और सुविधाजनक वातावरण की भावना विकसित करने हेतु और उन्हें एक निवेश गंतव्य के रूप में पेश करने का एक एकीकृत प्रयास है।”

अंतर्राष्ट्रीय निवेश शिखर सम्मेलन के द्वारा बड़े निवेश को किया जायेगा प्रोत्साहित 

एक आधिकारिक नोट के अनुसार, राजस्थान के सभी ज़िला स्तरीय उद्योग केंद्रों को विभिन्न क्षेत्रों से निवेश के अनेकों प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। इन सम्मेलनों की श्रृंखला के लिए संपूर्ण औद्योगिक स्पेक्ट्रम (Industrial Spectrum) जैसे पर्यटन (Tousrim), खाद्य एवं कृषि-प्रसंस्करण (Food and Agro-Processing), रिन्यूएबल एनर्जी (Renewable Energy) और यहां तक की सीमेंट मैन्युफैक्चरिंग (Cement Manufacturing) से भी सकरात्मक प्रतक्रिया दिखाई गयी है।  

पूरे अभियान का उद्देश्य राजस्थान में एक महत्वपूर्ण निवेश के लिए एक मजबूत प्रणाली स्थापित करना है। इस प्रयास से 24-25 नवंबर को जयपुर में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय निवेश शिखर सम्मेलन ‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022′(‘Invest Rajasthan 2022’) में उच्च अंतरराष्ट्रीय निवेश को आकर्षित करेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *