मुख्य बिंदु

दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे पर भारत का सबसे बड़ा EV चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया गया।
चार्जिंग पोर्टल में एक साथ करीब 100 इलेक्ट्रिक कार चार्ज हो सकेंगे।
यह अभी 96 चार्जर के साथ काम कर रहा है।
इससे पहले,ऐसी यूनिट नवी मुंबई में थी, जिसमें 16 एसी और 4 डीसी चार्जिंग पोर्ट थे।
ऊर्जा मंत्रालय के स्टैण्डर्ड पर खरा उतरने वाला ये अब तक का पहला बड़ा चार्जिंग स्टेशन होगा।

भारत की टेक-पायलटिंग कंपनी Alektrify Private Limited ने शुक्रवार को दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे पर भारत का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक वाहन (EV) चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया। गुरुग्राम में स्थित, इस चार्जिंग पोर्टल में एक साथ करीब 100 इलेक्ट्रिक कार चार्ज हो सकेंगे और स्टेशन में 96 चार्जर वर्तमान में चल रहे हैं और स्टेशन एक साथ 96 इलेक्ट्रिक कारों को चार्ज कर सकता है और एक पूरे दिन में 576 वाहनों को चार्ज किया जा सकता है। इससे पहले, देश की सबसे बड़ी ऐसी यूनिट नवी मुंबई, महाराष्ट्र में स्थित थी, जिसमें ईवीएस के लिए 16 एसी और 4 डीसी चार्जिंग पोर्ट थे।

देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशनों का बेंचमार्क

“यह स्टेशन अब भारत सरकार के बिजली मंत्रालय द्वारा दो सप्ताह पहले रखे गए विभिन्न ‘प्रमाणन अनुपालन’ और ‘सुरक्षा मानकों’ पर खरे उतरने वाले 96 चार्जर पॉइंट्स के साथ खुला है। ऊर्जा मंत्रालय द्वारा जनवरी 2022 में जारी संशोधित दिशा-निर्देश और मानकों पर खरा उतरने वाला ये अबतक का पहला बड़ा चार्जिंग स्टेशन होगा।

“यह ईवी चार्जिंग स्टेशन न केवल क्षेत्र में इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग को बढ़ावा देगा, बल्कि भविष्य में इलेक्ट्रिक व्हीकल इंडस्ट्री के लिए, और देश में आगे बनने वाले स्टेशनों के लिए भी स्टैंडर्ड सेट करेगा।

रिपोर्ट के अनुसार, उद्घाटन कार्यक्रम शुक्रवार को आयोजित किया गया था, जहां सरकारी एजेंसियों के आमंत्रित प्रतिनिधियों और नीति आयोग से आए गेस्ट को एनएचईवी कार्यक्रम निदेशक अभिजीत सिन्हा ने स्टेशन की तकनीकी क्षमता और सेफ्टी स्टैंडर्ड्स की भी जानकारी दी।

इज ऑफ डूइंग बिजनेस का उदाहरण

कार्यक्रम के दौरान इज ऑफ डूइंग बिजनेस कार्यक्रम निदेशक और अतिरिक्त प्रभार में एनएचईवी परियोजना निदेशक अभिजीत सिन्हा ने बताया की एनएचईवी जैसी पायलट परियोजनाओं ने लाइसेंस, निर्माण, संस्थापन, प्रतिष्ठापन, इलेक्ट्रिफिकेशन और मानकों के प्रमाणन व अनुपालन में सुगमता लाकर निवेशकों के लिए चार्जिंग स्टेशनों को पेट्रोल पंप का कॉम्पिटिटर बना दिया है। इलेक्ट्रिक वाहन न केवल प्रदूषण मुक्त हैं बल्कि स्मार्ट और कुशल भी हैं।

इतने बड़े और व्यापक स्तर के चार्जिंग स्टेशन देश में अबतक नहीं बने थे और ये स्टेशन प्रमाणन अनुपालन (Certification Compliance) एवं सुरक्षा अनुदेश मानकों (Safety Standards) में आज उद्योग जगत के लिए इज ऑफ डूइंग बिजनेस का उदाहरण है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *