मुख्य बिंदु:

– राजस्थान के पर्यटन विभाग ने भारत सरकार के आधिकारिक पर्यटन हैंडल अतुल्य भारत के साथ भागीदारी की।

– राज्य के यात्रा और पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए उठाया गया ये कदम

राज्य के यात्रा और पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए, राजस्थान के पर्यटन विभाग ने भारत सरकार के आधिकारिक पर्यटन हैंडल अतुल्य भारत के साथ भागीदारी की है। इस सहयोग से, राज्य सरकार राज्य की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए राज्य में घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करना चाहते हैं। विविध संस्कृति और विरासतों से परिपूर्ण, रेगिस्तानी राज्य में नियमित रूप से भारी संख्या में पर्यटक आते हैं, लेकिन महामारी ने इस क्षेत्र में कई समस्याएं पैदा कर दी हैं।

इस तरह के सहयोग से राज्य में पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

अपनी तरह की इस पहली साझेदारी के माध्यम से राज्य अधिकतम लोगों को पर्यटन के लिए आकर्षित करने का प्रयास करेगा। जहां इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य घरेलू पर्यटन को गति देना है, वहीं यह सभी प्रकार के पर्यटकों को राज्य में लाने के लिए प्रयास किए जाएंगे। निशांत जैन, आईएएस, निदेशक, राजस्थान पर्यटन ने कहा, “राजस्थान पर्यटन हमेशा राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इस तरह के सहयोग के अलावा कई और पहल करने के लिए तत्पर रहता है।”

राज्य की जीवंत संस्कृति की ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए उठाए जा रहे हैं कदम

इस योजना के तहत, अतुल्य भारत 3 सितंबर, 2021 को पहली सहयोगी पोस्ट अपलोड की थी, जिसमें राजस्थान के इस राज्य के दर्शनीय स्थलों पर प्रकाश डाला गया। यह पोस्ट दक्षिण राजस्थान के मानसून स्थलों जैसे उदयपुर, बांसवाड़ा, माउंट आबू आदि को प्रदर्शित करने का प्रयास करती है।

इसके अलावा, इस साझेदारी के तहत पोस्ट राजस्थान से जुड़ी हुई चीज़ों से संबंधित होंगे, वे आध्यात्मिक यात्रा / सर्किट, राजस्थानी व्यंजन, राजस्थानी नृत्य रूपों के अलावा अन्य चीजों पर ध्यान केंद्रित करेंगे। 

– इनपुट: आईएएनएस

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *