केंद्र सरकार द्वारा आयोजित प्रदर्शन ग्रेडिंग इंडेक्स 2019-20 में राजस्थान का बेहतर प्रदर्शन रहा। स्कूली शिक्षा व्यवस्था में काफी सुधार करते हुए, राजस्थान ने यह उपलब्धि हासिल की है। स्कूली शिक्षा के राष्ट्रीय मूल्यांकन में ग्रेड+ या लेवल 3 हासिल करते हुए राजस्थान पिछले साल की तुलना में आगे निकल गया है। रिपोर्ट के अनुसार, पीजीआई देश के विभिन्न राज्यों में स्कूली शिक्षा की स्थिति और क्वालिटी का विश्लेषण करता है और वर्तमान स्थिति के आधार पर उपयुक्त ग्रेड प्रदान करता है।

राजस्थान ने बेहतर पहुंच के माध्यम से स्कोर में सुधार किया है

कथित तौर पर, राज्य का स्कोर पिछले दो वर्षों में दर्ज 751-800 की सीमा से बढ़कर वर्तमान में 851-900 हो गया है। 70 विशेषताओं के बड़े पैमाने पर राज्य के शिक्षा के ढांचे को देखते हुए, यह इंडेक्स और इसके परीक्षण राज्यों को अपनी कमियों के क्षेत्रों की पहचान करने में मदद करती है। इस प्रकार, राज्य के अधिकारी शिक्षा के क्षेत्र में प्रगति के लिए बेहतर कदम उठा पाते हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह इंडेक्स राज्यों को एक व्यापक दृष्टिकोण प्रदान करता है और सीखने के बेहतर तरीकों के लिए उन्हें सुविधा प्रदान करता है। कथित तौर पर, परिणाम और शासन और प्रबंधन इस वर्ष दो मुख्य श्रेणियां थीं। रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान ने बेहतर पहुंच और बेहतर शैक्षिक व्यवस्था पर ध्यान केंद्रित करके यह सफलता हासिल की है।

इस वर्ष के लिए पीजीआई रही महामारी से प्रभावित

रिपोर्ट के अनुसार, विशेषज्ञों ने कहा है कि रुकी हुई कक्षाएं और बदले हुए प्रमोशन के प्रोटोकॉल के चलते इस वर्ष के पीजीआई के प्रभावित होने की संभावना है। अब एक साल से अधिक समय से स्कूल बंद हैं और सभी कक्षाएं ऑनलाइन चल रही हैं। यह निश्चित रूप से सीखने के परिणामों को प्रभावित करेगा, जिससे पीजीआई के स्कोर में गिरावट आएगी। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए ऑफलाइन कक्षाओं को पूरी तरह से शुरू करने के बाद छात्रों को वापस से शिक्षा के सामान्य स्तर पर लाने में काफी समय लगेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *