जयपुर में टीकाकरण अभियान के बेहतर प्रबंधन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन के दिशा निर्देश जारी किये हैं। यह आदेश दिया गया है कि यदि पहले से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा चुके व्यक्ति यदि टीकाकरण स्थल पर नहीं पहुंचते हैं, तो उन्हें ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन के माध्यम से खुराक दी जाएगी। टीकाकरण का दायरा बढ़ाने के अलावा, यह उपाय वैक्सीन की बर्बादी को भी रोकेगा।

ऑनलाइन पंजीकरण प्राप्त करने में असमर्थ व्यक्तियों की सहायता के लिए पहल 

यह पहल भारी मात्रा में उन लोगों की सहायता करेगी जो ऑनलाइन प्लेटफार्म पर रजिस्टर नहीं कर पा रहे हैं। इसमें सबसे अधिक लाभ ग्रामीण इलाकों के लोगों को और उन्हें जो तकनीकी रूप से अधिक मज़बूत नहीं हैं। नए निर्देशों के साथ, यदि रजिस्टर्ड व्यक्ति नहीं आ पाते हैं, तो केंद्र पर आने वालों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी। फिलहाल यह कदम सरकारी केंद्रों पर ही अमल में लाया जाएगा।

इसके अलावा,अधिकारी एक ऐसी प्रणाली पर भी विचार कर रहे हैं जिसमें ऑनलाइन रजिस्टर्ड व्यक्तियों को एक दिन और दूसरे दिन ऑन-स्पॉट रजिस्ट्रेशन वाले व्यक्तियों को टीका लगाया जाएगा। यहां यह ध्यान देना ज़रूरी है की ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन के चलते केंद्रों में अधिक भीड़ हो सकती है, ऐसे में सुविधाओं को प्रभावी रूप से लागू करने का नियंत्रित प्रबंधन ही एकमात्र तरीका है। साथ ही अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि ग्रामीण केंद्रों पर प्राथमिकता के आधार पर ग्रामीण नागरिकों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। 

मंगलवार को 832 नए मामले सामने आए और 2,806 लोग ठीक हुए

जयपुर के लोगों को कुछ देर की राहत की सांस देते हुए, शहर में लगातार दूसरे दिन एक हजार से कम कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं। मंगलवार को 832 नए मामले दर्ज किए गए और 2,806 लोग ठीक हो गए और सक्रिय मामलों की संख्या 19,967 तक कम हो गयी। मंगलवार को 20 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो गयी, वहीं राजधानी में अब तक कुल 1,784 लोगों की मौत हो चुकी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *