राजस्थान में कोरोना संक्रमण की घटती हुई दर को देखते हुए, राज्य सरकार ने राज्य में चल रहे प्रतिबंधों में ढील देने के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इस कार्यक्रम के तहत, 2 जून से क्षेत्र के उन जिलों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की जाएगी, जहां सक्रिय मामलों की नियंत्रित संख्या है। रिपोर्ट के अनुसार, यह छूट उन्हीं स्थानों पर दी जा सकेगी, जहां पॉजिटिविटी दर 10% से कम होगी अथवा ऑक्सीजन, आईसीयू व वेंटीलेटर बेड का उपयोग 60% से कम होगा।

प्रदेश में जिले के अंदर (Intra-District) सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे तक आवागमन अनुमत होगा।

नए आदेश के अनुसार, सभी सरकारी कार्यालयों को 7 जून तक 25% कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ सुबह 9:30 बजे से शाम 4 बजे तक कार्य करने की अनुमति दी जाएगी। उसके बाद, कर्मचारियों की उपस्थिति को 50% तक बढ़ाया जा सकता है। साथ ही, परिसर में 25% कर्मचारियों के साथ, निजी कार्यालयों को दोपहर 2 बजे तक संचालित करने की अनुमति दी गई है।

यात्रियों को मंगलवार से शुक्रवार तक सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच राज्य के एक जिले के अंदर आवागमन की अनुमति होगी। 8 जून के बाद राज्य के सभी क्षेत्रों में सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे तक वाहनों की आवाजाही की अनुमति होगी। इसके अलावा, वीकेंड कर्फ्यू पर प्रतिबंध शुक्रवार दोपहर से मंगलवार सुबह 5 बजे तक रहेगा, जब तक कि सक्रिय केसलोएड 10,000 से नीचे नहीं पहुंच जाता। इस बीच सप्ताह के बाकी दिनों में दोपहर 12 बजे से सुबह 5 बजे तक 17 घंटे के लिए ‘लोक अनुशासन कर्फ्यू’ लगाया जाएगा।

गांवों और जिलों को तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा

एक कुशल अनलॉक योजना तैयार करने के लिए, सक्रिय मामलों की वर्तमान संख्या के आधार पर जिलों और ग्राम पंचायतों को 3 क्षेत्रों में विभाजित किया जाएगा। 10 जून से राज्य की सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को दोबारा शुरु करने की योजना है और ग्रामीण विकास विभाग द्वारा मनरेगा के तहत काम फिर से शुरू करने के आदेश जारी करने की उम्मीद है। इसके अलावा, रिपोर्ट में कहा गया है कि नॉन-एसी परिसरों के विभिन्न मंजिलों पर दुकानें अल्टरनेट डे पर खोली जाएंगी।

इसके अतिरिक्त, जिला कलेक्टर स्थिति का संज्ञान लेंगे और संबंधित निर्देश जारी करेंगे। जयपुर में सोमवार को 220 नए संक्रमण के मामले और 1,503 लोगों के ठीक होने की सूचना मिली। मामलों में गिरावट के चलते सक्रिय केसलोएड 9,529 पर पहुंच गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *