अगर आपको भी आकाश में उड़ते हुए पक्षियों को देखकर सुकून मिलता है तो आपको निश्चित रूप से जयपुर में ‘कानोता डैम’ पर जाकर सुख की अनुभूति होगी। यह एक ऐसा जगह है जहां आप शहर के एकांत से दूर शांति से एक विशाल जल निकाय के ऊपर उड़ने वाले पक्षियों की भरी प्रजातियाँ देख सकते हैं। ऊपर आकाश में फैली सूरज की लालिमा और नीचे पानी में दिखता सूरज और पक्षियों का प्रतिबिंब किसी के भी मन को मोहित कर ले। यहां के वातावरण में फैली शांति के बीच पक्षियों की चहकने की आवाज़ आपको संगीत की लहर लगेगी, जिसे प्रकृति खुद आपके लिए बजा रही है। इस पानी को देखकर आपको भी अपने अंदर ठहराव महसूस होगा और पक्षियों को पंख फैला कर उड़ता देख आप स्वतंत्र महसूस करेंगे, यह शांति आपके मन को इस कदर भा जाएगी कि आपका यहां से वापस जाने का मन नहीं करेगा।

यहां आप नौका विहार और साइकिल चलाने का लुफ्त भी उठा सकते हैं। 

इस जगह पर पूरे साल पानी उपलब्ध रहता है। मनोरम दृश्यों और शांत वातावरण के साथ यह जगह सभी के लिए उपयुक्त है। इस बांध का निर्माण, वर्ष 2001 में पूरा हुआ था, और इसे धुन्ध नदी बेसिन पर सिंचाई के उद्देश्य से बनाया गया था। आप इस यहां पानी में नौका विहार कर सकते हैं, और साथ में साइकिल से घूमने का आनंद भी उठा सकते हैं।।

आप कानोता डैम रिज़ॉर्ट में रह भी सकते हैं और अपने कमरे से इस झील के संतुष्टिदायक दृश्यों की यादों के अपने दिल में हमेशा के लिए सहज कर रख सकते हैं। 

नॉक नॉक (Knock Knock)

शहरी लोगों को खुले आसमान को देखना और पक्षियों की चहकने की आवाज़ सुनने का अवसर अकसर नहीं मिल पाता, लेकिन आप अपनी रोज़मर्रा की दिन-चर्या से थोड़ा समय अपने लिए निकाले और कानोता डैम पर अकेले या अपने प्रियजनों के साथ अवश्य जाएं। वहां के सुंदर दृश्यों को अपने कैमरे और मन में हमेशा के लिए कैद करें। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *