ज़रूरी बातें !

अवनी लेखरा ने गुरुवार को 2021 पैरालंपिक स्पोर्ट्स अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ महिला पदार्पण का पुरस्कार जीता।
अवनी लेखरा ओलंपिक या पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला बन गयीं हैं।
अवनी ने पैरालिंपिक में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला होने का टैग भी हासिल किया।
महिलाओं की 10 मीटर एसएच1 एयर राइफल में विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर दर्ज़ करी उल्लेखनीय जीत।

अवनी लेखरा ने राष्ट्र के लिए एक और गौरव हासिल कर बीते गुरुवार को 2021 पैरालंपिक स्पोर्ट्स अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ महिला पदार्पण का पुरस्कार जीता है। अवनी लेखरा ओलंपिक या पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला बन गयीं हैं। जयपुर की निशानेबाज को गुरुवार को एक समारोह में सम्मानित किया गया। विशेष रूप से, 19 वर्षीय अवनी लेखरा ने पैरालंपिक रिकॉर्ड को तोड़, टोक्यो 2020 पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीता है।

ख़िताब जीतने के बाद अवनी लेखरा ने ज़ाहिर करी अपनी ख़ुशी

बीते गुरुवार को आयोजित वर्चुअल समारोह में सर्वश्रेष्ठ महिला, सर्वश्रेष्ठ पुरुष, सर्वश्रेष्ठ महिला पदार्पण, सर्वश्रेष्ठ पुरुष पदार्पण, सर्वश्रेष्ठ टीम, सर्वश्रेष्ठ आधिकारिक और बीपी करेज (BP Courage) अवार्ड सहित सात श्रेणियों में एथलीटों को सम्मानित किया गया। महिलाओं की 10 मीटर एसएच1 (SH1) एयर राइफल में विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने वाली उल्लेखनीय जीत के साथ, अवनी इस साल पैरालिंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला बनीं।

जयपुर की इस निशानेबाज़ ने कई प्रथम खिलाड़ियों के बीच पैरालिंपिक में निशानेबाजी में पदक जीतने वाली पहली भारतीय होने का खिताब भी अपने नाम किया है। विशेष रूप से, महिलाओं की 50 मीटर एसएच1 (SH1) एयर राइफल में कांस्य पदक के साथ, अवनी ने पैरालिंपिक में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला होने का टैग भी हासिल किया।

अपनी इस शानदार जीत के बारे में बात करते हुए अवनी लेखरा ने कहा,”यह पुरस्कार जीतना मेरे लिए सम्मान की बात है। मेरा ध्यान हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देने, अपने देश के लिए पदक लाने और यह दिखाने पर था कि कड़ी मेहनत, समर्पण और जुनून के साथ कुछ भी संभव है।”

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि “मैं वहां गयी थी और मैंने सोचा था कि ‘एक बार में एक शॉट लें’, और यही मैंने किया। बस अपना ध्यान प्रक्रिया पर रखते हुए, मैं अपने देश के लिए स्वर्ण पदक जीतने में सफल रही।”

सूची में एक और पहला स्थान जोड़ते हुए, अवनी भारत की पहली और एकमात्र महिला खिलाड़ी हैं जिन्हें टोक्यो 2020 पैरालंपिक खेलों में उनकी उपलब्धियों को मान्यता देते हुए यह सम्मान मिला है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *