इंदौर नगर निगम ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 की तैयारियां शुरू कर दी हैं, जिसके चलते हवा की गुणवत्ता को सुधारने के लिए उपाय किए जा रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, इस बार एयर क्वालिटी इंडेक्स के आधार पर भी अंक दिए जाएंगे, इसलिए यहां पर इसे सुधारने की कवायद शुरू कर दी गई है।

56 दुकान मार्केट जीरो प्लास्टिक वेस्ट की दिशा में उठाए कदम

अब 56 दुकान मार्केट में कोयले और लकड़ी से चलने वाली भट्टी और तंदूर का इस्तेमाल बंद किया जाएगा, जिससे वायु प्रदुषण को कम किया जा सके। इसकी जगह खाना बनाने के लिए केवल  नेचुरल गैस, एलपीजी और इलेक्ट्रॉनिक कुकिंग उपकरणों का उपयोग किया जाएगा।

इसके साथ ही, 56 दुकान जीरो प्लास्टिक वेस्ट की दिशा में भी आगे बढ़ रहा है। यहां पर प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने के लिए स्टील की प्लेट्स या बरतनों का प्रयोग किया जाएगा और उन्हें साफ करने के लिए डिशवॉशर लगाए जाएंगे।

जानकारी के अनुसार, इंदौर नगर निगम ने 56 दुकान मार्केट के व्यापारियों को तंदूर भट्टी में जल रहे कोयले एवं लकड़ियों से होने वाले प्रदूषण कम करने के लिए एलपीजी गैस का इस्तेमाल करने के लिए कहा है। 56 दुकान व्यापारी एसोसिएशन ने 3 दिन में कोयला और लकड़ी की भट्टियों को हटाने का आश्वासन दिया है। उम्मीद की जा रही है कि कोयला और लकड़ी का उपयोग बंद होने से धुआं नहीं होगा, जिससे वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *