इंदौर में विभिन्न सार्वजनिक सेवा संघों ने एक अनूठा अभियान शुरू करने के लिए एक साथ आगे आए हैं, जिसमें वे 30 नवंबर से केवल उन लोगों को सेवाएं देंगे, जिन्हें पूरी तरह से टीका लगाया गया है। यह पहल शहर में सख्त टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए की जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मध्य प्रदेश में पहली खुराक लगवाने वाले आधे से भी कम लोगों ने दूसरी खुराक लगवाई है। सुविधाजनक टीकाकरण की सुविधा के लिए जिले भर में 500 से अधिक टीकाकरण केंद्र उपलब्ध हैं।

इन सेवाओं के लिए टीकाकरण प्रमाणपत्र अनिवार्य

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *