मध्य प्रदेश में बच्चों को प्रकृति और वनजीवन से अवगत करवाने के लिए वन विभाग द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। इसके तहत, सरकारी स्कूल के बच्चों के लिए अनुभूति कैंप लगाया जाएगा, जिसमें बच्चों को जंगल की सैर करवाई जाएगी और वन्यप्राणियों के बारे में भी बताया जाएगा। इस पहल से बच्चों को पर्यावरण से जुड़ने और वनजीवन को करीब से देखने का अवसर मिलेगा। इस कैंप का आयोजन 23-24 दिसंबर तक किया जाएगा और अलग-अलग स्कूलों को बच्चों को जंगल की सैर पर ले जाया जाएगा।

प्रत्येक वनमंडल में बनाए गए तीन से चार मास्टर ट्रैनर

इस कार्यक्रम को अगले दो दिनों के लिए पूरे मध्यप्रदेश में चलाया जाएगा और तीन से चार स्कूलों के 100-100 बच्चों जंगल घुमाया जाएगा। इस पहल का लक्ष्य स्कूली बच्चों को दुलर्भ वनस्पति, पौधों, वन्यप्राणियों के बारे में शिक्षित करना है। इसके साथ ही, मास्टर ट्रैनर द्वारा बच्चों को पर्यावरण का महत्व भी समझाया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक वनमंडल में तीन से चार मास्टर ट्रैनर बनाए गए हैं। जिसमें कुछ एनजीओ, सेवानिवृत्त वन अफसरों को भी इसकी जिम्मेदारी सौंपी ।

संक्रमण की वजह से दो साल से अनुभूति कैंप नहीं रखा गया। शासन की अनुमति मिलने के बाद विभाग ने इस कैंप की तैयारी शुरू कर दी है। इसके अलावा, अधिकारियों के अनुसार निजी स्कूलों के बच्चों के लिए अलग से कार्यक्रम करवाया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *