इंदौर के सबसे प्रसिद्द पर्यटक स्थलों में से एक महात्मा गांधी हॉल की यात्रा आपको बीते हुए समय में ले जायेगी। एक समय था जब इंदौर के लोग अपने दैनिक कामों की योजना घड़ी की आवाज़ के अनुसार करते थे, जो की आज भी शहर के बीचोबीच ऐतिहासिक गांधी हॉल के ऊपर स्थित है। यह वर्तमान समय में एक टाउन हॉल के रूप में उपयोग किया जाता है जहां कला और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है, इस बीसवीं शताब्दी की प्रारंभिक इमारत को 1948 तक किंग एडवर्ड हॉल (King Edward Hall) कहा जाता था। उसके बाद इसका नाम महात्मा गांधी हॉल पड़ा। प्राचीन सुंदरता और आधुनिक विचारों के संयोजन के साथ पर्यटकों को आकर्षित करने वाले यह वास्तुशिल्प चमत्कार इंदौर शहर की बहुमूल्य धरोहर है और शहर के पुरातन कलात्मकता का प्रतीक है।

इंडो-गोथिक वास्तुकला का अद्भुत नमूना


इंदौर में 20वीं शताब्दी से स्थित प्राचीन गांधी हॉल इंडो-गोथिक डिज़ाइन का अद्भुत नमूना है

सफेद पत्थर और लाल पत्थरों के साथ निर्मित इस शानदार गांधी हॉल को चार्ल्स फ्रेडरिक स्टीवंस (Charles Frederick Stevens) द्वारा डिजाइन किया गया था, जिन्होंने सजावटी चीजों, ऊंची छतों और मीनारों के माध्यम से इंडो-गोथिक डिजाइन को सम्मिलित किया था। महाराजा यशवंत राव होल्कर द्वारा इस हॉल को इसका वर्तमान शीर्षक दिया गया पर इस इमारत का उद्घाटन लगभग 1905 में प्रिंस ऑफ़ वेल्स (जार्ज पंचम) द्वारा किया गया था।

यह क्लासिक लाल रंग की इमारत इंदौर में सबसे असाधारण औपनिवेशिक संरचनाओं में से एक है। सिवनी पत्थर में निर्मित, हॉल इंडो-गोथिक वास्तुकला का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। इसके गुंबद और मीनार इसे शहर का एक योग्य लैंडमार्क बनाते हैं। केंद्रीय हॉल में एक बार में लगभग 2,000 लोग बैठ सकते हैं। हॉल में पूरे वर्ष पुस्तक और चित्रकला प्रदर्शनियों का आयोजन किया जाता है। घण्टा घर के नाम से जाना जाने वाले टाउन हॉल के सामने एक लोकप्रिय क्लॉक टॉवर है। इसमें एक पुस्तकालय, एक बच्चों का पार्क और परिसर में एक मंदिर भी है।

नॉक नॉक (Knock Knock)

वर्षों से क्लॉक टावर की समय की यह ध्वनि इंदौर के लोगों के जीवन में फीकी पड़ गई और कुछ दो दशक पहले यह पूरी तरह से बंद हो गयी। यदि आप प्राचीन इमारतें देखने के लिए उत्सुक रहते हैं तो जैसे ही महामारी का प्रकोप कम हो आप इंदौर के गांधी हॉल की यात्रा अवश्य करें, जहां की प्राचीन आभा आपको बीते हुए युग में लेकर जायेगी और आप जान सकेंगे की इंदौर शहर संस्कृति और इतिहास के मामले में किसी से कम नहीं है।

स्थान - महात्मा गांधी रोड, शास्त्री मार्केट, न्यू सियागंज, इंदौर

ताजा ख़बरों के साथ सबसे सस्ती डील और अच्छा डिस्काउंट पाने के लिए प्लेस्टोर और एप स्टोर से आज ही डाउनलोड करें Knocksense का मोबाइल एप और KnockOFF की मेंबरशिप जल्द से जल्द लें, ताकि आप सभी आकर्षक ऑफर्स का तत्काल लाभ उठा सकें।

Android - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knocksense

IOS - https://apps.apple.com/in/app/knocksense/id1539262930