कोरोना वायरस संक्रमण के चलते देश भर में लगे कड़े प्रतिबंधों ने अन्य गतिविधियों पर भी रोक लगा दी है। इसी के चलते घर में आइसोलेटेड कई कोरोना संक्रमित मरीज़ और परिवारों को खाने की व्यवस्था करने में बहुत मुश्किलें हो रही हैं। ऐसी स्थिति में इंदौर पुलिस द्वारा शुरू की गयी 'हेल्पिंग हैंड' नामक नेक पहल ने 250 से अधिक लोगों की सहायता की है। इस पहल में पुलिस कर्मी, संक्रमित मरीज़ों और उनके परिवारों को इस कठिन समय में निः शुल्क खाना पहुंचा रहे हैं। मध्य प्रदेश ट्रैफिक पुलिस के हेड कांस्टेबल रणजीत सिंह की इस पहल में उनके साथ कांस्टेबल सहयोगियों की एक टीम ड्यूटी से पहले और बाद में भोजन तैयार करती है और जरूरतमंदों तक पहुंचती है।

हेल्पिंग हैंड रोज़ 50 से अधिक लोगों की सहायता कर रहा है


रंजीत सिंह अपने डांस मूव्स की वजह से ही इंदौर में लोकल सेलिब्रिटी हैं। पूरा शहर उनके बारे में जानता है, वो पिछले 16 सालों से ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए माइकल जैक्सन का फेमस 'मूनवॉक' कर रहे हैं और अब अब उन लोगों की सेवा में शामिल हैं जिन्हें भोजन की आवश्यकता है, इनमें अस्पताल या घर में आइसोलेटेड मरीज़ शामिल हैं। हेल्पिंग हैंड को एक महीने पहले स्थापित किया गया था जब कांस्टेबल को एहसास हुआ कि लोग पैसे होने के बावजूद भोजन खरीदने में सक्षम नहीं हैं। जब सिंह ने एमटीएच अस्पताल में परिवार के एक मरीज को भोजन उपलब्ध कराने के लिए अपना टिफिन सौंपा, तो लगभग 15 और ऐसे जरूरतमंद उनके पास आ गए।


हाथ में कोई संसाधन न होने के कारण, उन्होंने सभी के लिए पके भोजन की व्यवस्था करने के लिए अपनी टीम की सहायता ली। तब से, बाल मुकुंद, रवि, राजेश, गजेंद्र, तारा चंद और ट्रैफिक पुलिस क्रेन ड्राइवर मुन्ना अंसारी सभी लोग मिलकर प्रत्येक दिन 50 से अधिक लोगों को भोजन देते हैं। वे पुलिस स्टेशन में खाना बनाते हैं और इंदौर में DNS, MTH, MY, लाल और इंदौर के सरकारी सुपर स्पेशैलिटी अस्पतालों में कोरोना रोगियों को लंच और डिनर के पैकेट प्रदान करते हैं। सेवा को उन रोगियों में भी बांटा जाता है जिनके पास भोजन प्राप्त करने का कोई साधन नहीं है।

कथित तौर पर, 'हेल्पिंग हैंड' में रंजीत सिंह और उनके सहयोगियों की टीम लॉकडाउन हटने के बाद भी सेवा को बनाये रखना चाहती है। सिंह ने कहा कि सहायता तब तक संचालित की जाएगी जब तक कि लोगों को भोजन की आवश्यकता है। उनकी सोशल मीडिया की मज़बूत पकड़ ने काफी लोगों को आकर्षित किया है और काफी लोग इस पहल में उनका सहयोग करने के लिए आगे आये हैं। सिंह इस पहल की तसवीरें और वीडियोज़ को सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं जिससे उन्हें अत्यधिक स्नेह मिला है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया है की वे लॉकडाउन के बाद हेल्पिंग हैंड का सहयोग करें।