मध्य प्रदेश के इंदौर और उज्जैन डिवीज़न के 7 जिलों में गुरूवार को 50 से कम नए कोरोना मामले दर्ज किये गए। यह वास्तव में राज्य के लिए राहत का सबब है। बड़वानी, बुरहापुर, अलीराजपुर, झाबुआ और खंडवा सहित इंदौर संभाग के पांच शहरों में टेस्ट पाजिटिविटी रेट (प्रति 100 परीक्षणों में पॉजिटिव मामलों की संख्या) 1% तक सीमित थी।

इंदौर डिवीज़न में कोरोना मामलों में कमी दर्ज की गयी



मध्य प्रदेश के इंदौर डिवीज़न में गुरूवार को कोरोना मामलों में काफी गिरावट देखी गयी। इस क्षेत्र में 8 जिलें हैं और इनमें से लगभग 5 ने पिछले 24 घंटों में सिंगल डिजिट में कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं। डेटा रिकॉर्ड के अनुसार, इन जिलों में से बड़वानी में 8, बुरहानपुर और खंडवा में 2-2, झाबुआ में 9 और अलीराजपुर में 4 मामलों के साथ कुल 25 नए मामले सामने आए।

इस बीच, प्रशासनिक मुख्यालय इंदौर में महामारी की स्थिति में गिरावट जारी है। गुरुवार को यहां करीब 577 नए मामले सामने आए जिनसे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,47,922 हो गयी। इन मामलों में से 7,162 मरीजों का सक्रिय इलाज जारी है। गौरतलब है कि इंदौर अब मध्य प्रदेश में सबसे अधिक सक्रिय मामलों वाला शहर नहीं है बल्कि राज्य की राजधानी भोपाल इस समय सबसे अधिक प्रभावित है।

इंदौर में ताजा केसलोड से तीन गुना अधिक



इंदौर में गुरूवार को 1,895 लोग कोरोना से रिकवर हो गए जो संख्या नए मामलों के मुकाबले तीन गुना ज़्यादा है। अभी तक मध्य प्रदेश में रिकवरी दर 94.2% के साथ सबसे अधिक है। अभी तक इंदौर में 1,327 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है।