इंदौर में टीकाकरण अभियान को बढ़ावा देने के लिए आज नगर निगम के सभी ज़ोनल ऑफिस और ड्राइव-इन केंद्रों में अभियान चलाया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार 19 आधिकारिक साइटों और 6 ड्राइव-इन साइटों पर पूरे दिन टीके लगाए जाएंगे। सोमवार के टीकाकरण कार्यक्रम में मिली सफलता के बाद अधिकारी टीका लगवाने वाले नागरिकों की संख्या को बढ़ाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

इंदौर में टीका रहित नागरिकों को खोजने के लिए डोर-टू-डोर अभियान

कथित तौर पर, सोमवार को 78,000 से अधिक नागरिकों को टीका लगाया गया। इस बड़े पैमाने के अभियान के साथ, सोमवार को पिछले सभी दैनिक टीकाकरण रिकॉर्ड तोड़ दिए। नगर कमीशनर के अनुसार, जिन लोगों का टीकाकरण नहीं हुआ है उनकी पहचान के लिए शहर भर में घर-घर जाकर अभियान चलाया जा रहा है। नगर निगम के एनजीओ की एक टीम मतदाताओं की लिस्ट की मदद से टीकाकरण न कराने वाले नागरिकों का पता लगा रही है और उन्हें टीका लगवाने के लिए कह रही है।

वृद्ध, बीमार और विकलांगों के लिए घर पर टीकाकरण की सुविधा 

रिपोर्ट के अनुसार, एडिशनल कमीशनर ने बताया कि शहर में व्यापक अभियान की सुविधा के लिए एक इनोवेटिव योजना लागू की गई है। इसके तहत अधिकारियों ने वरिष्ठ नागरिकों, विशेष रूप से विकलांग और मानसिक रूप से अस्वस्थ रोगियों का टीकाकरण करने के लिए शहर के 18 आश्रमों का दौरा किया। कथित तौर पर, इस कार्यक्रम से 400 लोगों को टीका लगाया था और आने वाले दिनों में गिनती बढ़ने की उम्मीद है। इसके अलावा, बिस्तर पर पड़े और रोगग्रस्त व्यक्तियों को भी प्राथमिकता वाले टीकाकरण के लिए पहचाना जा रहा है। सर्जनों सहित डॉक्टरों की एक टीम द्वारा उनकी वर्तमान स्थिति का उचित देखरेख करने के बाद, उन्हें घर पर टीकाकरण की सुविधा प्रदान की जाएगी। इंदौर में सोमवार को 56 नए मामले सामने आए और 52 ठीक हो गए। जबकि शहर में वर्तमान में 698 सक्रिय रोगी हैं, संक्रमित व्यक्तियों की संख्या अब 1,52,575 तक पहुंच गई है। इंदौर में अत्यधिक संक्रमण से 1,371 लोगों की जान जा चुकी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *