मुख्य बिंदु:

– इंदौर ने गुरुवार को डेंगू के 21 नए मामले मिले।

– इंदौर में मामलों का संख्या बढ़कर 203 हो गई है।

– 203 मामलों में 106 पुरुष, 97 महिला और 33 बच्चे शामिल हैं।

मध्य प्रदेश में डेंगू के व्यापक प्रसार के बीच, इंदौर ने गुरुवार को इस सीजन में एक दिन में मिलने वाले सबसे अधिक ताज़ा मामले दर्ज किए गए हैं। कथित तौर पर, 16 सितंबर को 21 नए डेंगू संक्रमणों का पता चला था, जिसके बाद इंदौर में मामलों का संख्या बढ़कर 203 हो गई है। इसने पूरे जिले में चिंता बढ़ा दी है, क्योंकि कई प्रतिबंधात्मक उपायों के कार्यान्वयन के बावजूद यह बीमारी की संख्या बढ़ रही है।

इंदौर में 1 अगस्त से डेंगू के मामलों में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई

रिपोर्ट के अनुसार, अगस्त की शुरुआत से डेंगू के मामले मिलने शुरू हुए और सितंबर में इस बीमारी के मामलों में वृद्धि दर्ज की गई। अब तक पाए गए कुल मामलों में से 1 अगस्त के बाद लगभग 170 मरीज पाए गए।

इंदौर में अब तक 203 डेंगू संक्रमित मिल चुके है। इनमें 106 पुरुष, 97 महिला और 33 बच्चे शामिल हैं। गुरुवार को 439 घरों का लार्वा सर्वे हुआ। इनमें 11 में डेंगू लार्वा मिला है। वर्तमान में तीन डेंगू के मरीज अस्पताल में भर्ती है। इनमें 27 वर्षीय व 29 व 31 वर्ष के पुरुष अस्पताल में भर्ती है। गुरुवार को स्वास्थ विभाग व निगम की टीमों ने 439 घरों में लार्वा का सर्व किया जिनमें से 13 घरों में डेंगू का लार्वा मिला

मप्र में शुरू हुआ बीमारी से लड़ने के लिए कई अभियान शुरू किए गए

पिछले सीजन में 86 मामलों के साथ एक दशक में सबसे निचले स्तर पर पहुंचने के बाद, इस साल डेंगू की वृद्धि से मध्य प्रदेश को एक बड़ा झटका मिला है। हालांकि, राज्य और जिला स्तर पर बीमारी के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए कई उपाय किए गए हैं। फॉगिंग, एंटी-लार्वा सर्वे और सर्विलांस जैसी विभिन्न जमीनी गतिविधियां यहां नियमित समय पर संचालित की जा रही हैं।

इसके अलावा, राज्य सरकार ने डेंगू बीमारी के खतरे को नियंत्रित करने के लिए इस सप्ताह की शुरुआत में ‘डेंगू से जंग जनता के संग’ अभियान भी शुरू किया था। इस कार्यक्रम के तहत बुधवार को मप्र के विभिन्न जिलों में विशेष डेंगू फॉगिंग अभियान चलाया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *