महामारी की दूसरी लहर के दौरान इंदौर शहर को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ा। अब शहर की स्थिति बेहतर हो रही है। नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, पहले सप्ताह की तुलना में जुलाई के तीसरे सप्ताह में कोरोना टेस्टिंग के आंकड़ों में 12% की गिरावट दर्ज की गई है। कथित तौर पर, अधिकारियों ने कहा कि नागरिकों की अनिच्छा, बदलते मौसम की स्थिति और बुखार क्लीनिकों में कम मामलों के कारण सैंपल कम हो गए हैं।

बारिश के कारण शहर में कम टेस्टिंग हो रही है

जबकि रिपोर्ट में कहा गया है कि जुलाई के पहले सप्ताह में 70,000 से अधिक मामलों का परीक्षण किया गया था, तीसरे सप्ताह में यह संख्या घटकर लगभग 62,000 हो गई है। कथित तौर पर, सकारात्मकता दर भी कम हो गया है और इसका सीधा संबंध सैंपल के गिरते हुए आंकड़ों से हो सकता है। रिपोर्ट के अनुसार, परीक्षणों की दैनिक संख्या 7,000 से 10,000 की सीमा में है, जबकि राज्य प्रशासन के दिशानिर्देश के अनुसार दैनिक परीक्षणों की संख्या 10000 होनी चाहिए।

कथित तौर पर, एक अधिकारी ने बताया कि परीक्षण संख्या में गिरावट रविवार को आने वाले कम सैंपल से प्रेरित है और बारिश भी बाधा उत्पन्न कर रही है। इसके अतिरिक्त, रिपोर्ट में कहा गया है कि हवाई अड्डे पर परीक्षण टीम को अपने कर्तव्यों से मुक्त कर दिया गया है। इसे हवाई मार्ग से इंदौर आने वाले लोगों की जांच के लिए तैनात किया गया था। अब अधिकारी रेलवे जंक्शन पर टेस्टिंग टीम तैनात करने की योजना बना रहे हैं ताकि सैंपलिंग बढ़ाई जा सके।

इंदौर कोरोना अपडेट

मंगलवार को 3 नए कोरोना मामले और 3 लोगों के रिकवर होने के साथ, इंदौर में कोरोना की संख्या सफलतापूर्वक कम हो गयी है। रिकॉर्ड के अनुसार, संक्रामक वायरस से कुल 1,52,965 व्यक्ति प्रभावित हुए हैं और अब तक 1,391 लोगों की मौत हो चुकी है। सकारात्मक रूप से देखा जाए तो इंदौर में नागरिकों को कोरोना के टीके की 29,74,296 खुराक दी गई हैं और अधिकारी नियमित रूप से कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए पहल कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *