मध्य प्रदेश सरकार ने भविष्य में विदेश की यात्राएं करने वाले खिलाड़ियों, छात्रों और प्रोफेशनल्स के टीकाकरण को प्राथमिकता देने का निर्णय किया है। रिपोर्ट के अनुसार, इंदौर के जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया ने ऐसे सभी लोगों को सोमवार को सभी संबंधित डॉक्यूमेंट के साथ कार्यालय आने को कहा है। कोविशील्ड की दूसरी खुराक उन्हें प्राथमिकता के आधार पर दी जाएगी, भले ही दो खुराकों के बीच 84 दिनों का अनिवार्य गैप पूरा न हुआ हो।

28 दिन का गैप पूरा होने पर दूसरी खुराक दी जायेगी 

यह बताया गया है कि तीनों केटेगरी के तहत सभी व्यक्तियों को प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाया जाएगा। 31 अगस्त 2020 तक चलने वाली, यह योजना विदेश जाने वाले व्यक्तियों को पहले बताए गए 28-दिन के गैप के पूरा होने के बाद कोविशील्ड की दूसरी खुराक लेने की अनुमति देगी। रिपोर्ट के अनुसार, निम्नलिखित तीन समूहों में रहने वाले नागरिक आने वाले अभियान का लाभ उठा सकते हैं-

 जिन छात्रों को विदेशी कॉलेजों या विश्वविद्यालयों में प्रवेश के बाद विदेश यात्रा करनी पड़ती है

 जिन व्यक्तियों को कार्यालय परियोजनाओं के कारण विदेश यात्राएं करनी पड़ती हैं

 टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले एथलीट, खिलाड़ी और अन्य कर्मचारी

ऐसे सभी लोगों को टीकाकरण लाभ प्राप्त करने के लिए अपने पासपोर्ट दिखाने होंगे। इसके अलावा, यह भी बताया गया है कि ऐसे लोगों के टीकाकरण प्रमाण पत्र में उनके पासपोर्ट नंबर होंगे। यदि पहली खुराक के रजिस्ट्रेशन के लिए पासपोर्ट का उपयोग नहीं किया गया था, तो फोटो पहचान पत्र भी टीकाकरण प्रमाण पत्र के साथ अटैच किया जाएगा। यदि आवश्यक हो, तो टीकाकरण अधिकारी एक अलग प्रमाण पत्र जारी करेगा। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *