शहर में टीकाकरण कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए, इंदौर में अधिकारियों ने गर्भवती महिलाओं के लिए एक केंद्रित अभियान शुरू किया है। इस पहल के तहत इंदौर में कुल 10 टीकाकरण केंद्र स्थापित किए गए हैं। इनमें से 5 ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों की सेवा करेंगे, जबकि अन्य पांच शहरी निवासियों के टीकाकरण में सहायता करेंगे। विशेष रूप से, ये चिकित्सा केंद्रों और अस्पतालों में स्थापित किए गए हैं जहां गर्भवती महिलाओं को नियमित देखभाल और उपचार प्रदान किया जाता है।

गर्भवती महिलाओं के लिए मंगलवार और शुक्रवार को चलाए जाने वाले विशेष अभियान

डॉ तरुण गुप्ता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के लिए शुक्रवार और मंगलवार का दिन रिज़र्व किया गया है। इन महिलाओं को टीका लगवाने के लिए ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन किआ लाभ भी दिया जाएगा। साथ ही यह भी बताया गया है कि शेष 4 सप्ताह के दिनों में अन्य श्रेणियों के लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।

अधिकारी इस बात पर विशेष ध्यान दे रहे हैं कि दो दिनों के अभियान में केवल गर्भवती महिलाओं को ही टीका लगाया जाए। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में कुछ खराबी के चलते दूसरे ग्रुप के लोगों ने स्लॉट बुक कर लिया और सेंटर पर पहुंच गए। रजिस्ट्रेशन के बावजूद, अधिकारियों ने ऐसे व्यक्तियों को टीका लगाने से इंकार कर दिया और उन्हें अपने स्लॉट को फिर से बुक करने के लिए कहा गया। कई नागरिकों ने टीकाकरण स्थल पर इस तरह के अनुभवों की सूचना दी और अब वे अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं।

इंदौर में नागरिकों को दी गई 29.74 लाख से अधिक वैक्सीन की खुराक

चिकित्सा और प्रशासनिक अधिकारियों के प्रयासों के कारण, इंदौर के निवासियों को कोरोना वैक्सीन की कुल 29,74,296 खुराक दी गई हैं। रिकॉर्ड के अनुसार, 24,14,631 व्यक्तियों को पहली खुराक मिली है, जबकि शहर में 5,92,076 नागरिकों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है। टीकाकरण कार्यक्रम का नेतृत्व 226 सरकारी केंद्र और 11 निजी केंद्र कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *