पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह देश में चल रही कोरोना महामारी से लड़ रहे लोगों की मदद के लिए आगे आये हैं। युवराज सिंह अपने YouWeCan फाउंडेशन की ओर से इंदौर में एक विशेष COVID-19 क्रिटिकल केयर सुविधा स्थापित करने कि पहल की है। यह प्रस्तावित केंद्र 100 ऑक्सीजन युक्त बेड से लैस होगा, जिसमें 50% BiPAP और 10% वेंटिलेटर-सक्षम बेड होंगे। युवराज सिंह खुद एक कैंसर सर्वाइवर है, युवराज सिंह ने घातक कैंसर रोगों के खतरे से जूझ रहे लोगों की सहायता के लिए 2012 में एक साधारण चिकित्सा प्रावधान के रूप में YouWeCan Foundation की शुरुआत की। युवराज सिंह अपने एनजीओ YouWeCan Foundation की ओर से कैंसर जैसी बीमारी से लड़ रहे लोगों की मदद कर रहें हैं। लोगों में कैंसर जैसी बीमारी के प्रति जागरूकता, रोकथाम, प्रारंभिक पहचान, रोगी सहायता और कैंसर मरिजों को बेहतर चिकित्सा सेवा मुहैया करवाकर उनकी सहायता कर रहे हैं।


हालांकि अब, YouWeCan Foundation ने एक और मिशन को शामिल किया है जिसका उद्देश्य COVID-19 संक्रमण के खतरे को खत्म करना है। रिपोर्ट के अनुसार, फाउंडेशन ने इंदौर में एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डीन को एक पत्र भेजा है, जिसमें संक्रमण से लड़ने वालों के लिए एक महत्वपूर्ण COVID सुविधा के गठन का अनुरोध किया गया है। एनजीओ ने तत्काल आधार पर अपने वादे के अनुसार किए गए प्रावधान की बुनियादी ढांचे की आवश्यकताओं की आपूर्ति के लिए विक्रेताओं के एक सूचकांक को भी शॉर्टलिस्ट किया है। पत्र में कहा गया कि कोरोनो वायरस की दूसरी लहर के खतरे के बीच अधिक से अधिक लोगों की जान बचाने में मदद करेंगे। पत्र में आगे वादा किया गया है कि कॉलेज की मंजूरी मिलने के 10 से 15 दिनों के भीतर इस प्रस्ताव पर काम शुरू कर दिया जाएगा।


इससे पहले भी, YouWeCan Foundation ने 2020 में महामारी के कारण पैदा हुई मांग को पूरा करने के लिए कदम उठाया था और PayTM और LifeBuoy के सहयोग से एक मिलियन से अधिक स्वच्छता किट दान किए थे। यह सहायता देश में 14 राज्य सरकारों के लिए जुटाई गई थी। यहां के स्वयंसेवकों ने पहले स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और यहां तक ​​​​कि डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ जैसी वैश्विक एजेंसियों के साथ मिलकर महामारी वृद्धि और नियंत्रण के बारे में कई जागरूकता अभियान चलाने के लिए काम किया है।


युवराज सिंह का जन्म 12 दिसम्बर, 1981 को पंजाब के एक सिख परिवार में हुआ था। वह पूर्व क्रिकेटर खिलाड़ी और फिल्म अभिनेता योगराज सिंह के बेटे हैं। युवराज सिंह ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत अक्टूबर 2000 में की थी। केन्या के खिलाफ युवराज ने पहला अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेला। युवराज सिंह ने 2007 टी-ट्वेंटी विश्व कप में इग्लैण्ड के खिलाफ एक ओवर में छह छक्के जमाकर अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी का परिचय दिया था। 2011 विश्व कप के इस हीरो ने विश्व कप 2011 में 362 रन और 15 विकेट लेकर मैच ऑफ द टूनामेंट का खिताब अपने नाम किया था। अपने वनडे कॅरियर में युवी ने 274 मैचों में 8051 रन बनाए हैं जिसमें 13 शतक भी शामिल हैं। सचिन, द्रविड, सौरभ के बाद वह आठ हजार रन बनाने वाले भारत के चौथे बल्लेबाज हैं।