मुख्य बिंदु

अब आप दूसरे खाते में IMPS के जरिए दो लाख के बजाए 5 लाख रुपए ट्रांसफर कर पाएंगे।
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने शुक्रवार को Immediate Payment Service (IMPS) ट्रांजैक्‍शन की सीमा बढ़ा दी।
National Payments Corp of India (NPCI) का IMPS सिस्‍टम ग्राहकों को 24 घंटे पैसा ट्रांसफर करने की सुविधा देता है।
इसमें internet banking, mobile banking apps, bank branches, ATMs, SMS और IVRS सर्विस शामिल है।

भारतीय रिज़र्व बैंक ने आम जनता को बड़ी राहत देते हुए एक बड़ा ऐलान किया है। अब अगर आप इमिडिएट पेमेंट सर्विस (Immediate Payment Service) का इस्तेमाल करते हैं तो अब आप एक दिन में 5 लाख रुपए तक का ट्रांजेक्शन कर सकेंगे। पहले यह लिमिट 2 लाख रुपए थी। इस सर्विस की मदद से आप कहीं भी पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके अलावा आरबीआई ने मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक के बाद रेपो रेट और रिवर्स रेपो में कोई बदलाव नहीं किया है। ऐसे में ईएमआई पर फिलहाल कोई अंतर नहीं पड़ेगा।

जानें आरटीजीएस-एनईएफटी से कितना अलग है इमिडिएट पेमेंट सर्विस (IMPS)

आरटीजीएस और एनईएफटी से जब आप पैसा ट्रांसफर करते हैं तो इसे दूसरी पार्टी तक जाने में कुछ समय लगता है। वहीं दूसरी ओर इमिडिएट पेमेंट सर्विस (IMPS) के जरिए पैसा ट्रांसफर करने में जरा भी देरी नहीं लगती है, पैसा तुरंत कहीं भी भेजा जा सकता है। IMPS की लोकप्रियता काफी तेजी से बढ़ रही है। इसे इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग ऐप, बैंक ब्रांच, एटीएम और एसएमएस, आईवीआरएस के जरिए कर सकते हैं। इसके जरिए ट्रांसफर किया गया पैसा कुछ ही देर में दूसरी पार्टी के पास पहुंच जाता है।

जीडीपी ग्रोथ 9.5 परसेंट

यह लगातार 8वीं बार है जब रेपो रेट 4 परसेंट और रिवर्स रेपो रेट 3.5 परसेंट पर बकरार है। फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में जीडीपी ग्रोथ के अनुमान में कोई बदलाव नहीं किया गया है। जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 9.5 परसेंट पर बरकरार रखा है। साथ ही रिटेल महंगाई दर 5.3 परसेंट कर दी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *