Construction work of the World's Tallest Railway Bridge Pier at Noney Valley in Manipur with a height of 141 Mtrs. is progressing swiftly.

मुख्य बिंदु

भारत के मणिपुर में बन रहा है दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे ब्रिज।

यह 111 किमी लंबी जिरीबाम-इंफाल रेलवे लाइन प्रोजेक्ट का एक हिस्सा है।

यह रेलवे ब्रिज 141 मीटर की ऊंचाई पर बनाया जा रहा है।

ब्रिज का कार्य दिसंबर 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है।

इसकी ऊंचाई यूरोप के मोंटेनेग्रो में 139 मीटर ऊंचा माला-रिजेका वायडक्ट की लम्बाई से अधिक होगी।

भारत के मणिपुर में बन रहा है दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे ब्रिज। भारतीय रेलवे मणिपुर के नोनी वैली (Noney Valle ) में दुनिया के सबसे बड़े ऊंचे रेल ब्रिज का निर्माण कर रहा है जिसकी ऊंचाई 141 मीटर होगी। यह भारतीय रेलवे का महत्वाकांक्षी 111 किमी लंबी ‘जिरीबाम-इंफाल रेलवे लाइन प्रोजेक्ट’ (Jiribam-Imphal New Line Railway Project) का एक हिस्सा है।

नोनी वैली का यह रेलवे ब्रिज जो की 141 मीटर की ऊंचाई पर बनाया जा रहा है, यूरोप के मोंटेनेग्रो (Montenegro) में 139 मीटर ऊंचा माला-रिजेका वायडक्ट (139m Mala-Rijeka Viaduct ) की लम्बाई से अधिक होगा जो इसे दुनिया का सबसे ऊंचा ब्रिज बना देगा।

परियोजना के मुख्य अभियंता संदीप शर्मा ने बताया कि परियोजना के पूरा होने के साथ 111 किमी की दूरी 2-2.5 घंटे में तय की जाएगी। वर्तमान में जिरीबाम-इंफाल (एनएच -37) के बीच की दूरी 220 किमी है, जिसमें लगभग 10-12 घंटों का समय लगता है। बताया जा रहा है की ब्रिज का कार्य दिसंबर 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है।

संदीप शर्मा ने बताया की पहला चरण जो 12 किलोमीटर तक फैला है, पहले ही चालू हो चुका है। दुसरे चरण का 98 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है और यह भी फरवरी 2022 तक बनकर तैयार हो जाएगा। तीसरा चरण खोंगसांग (Khongsang) से तुपुल (Tupul) तक नवम्बर 2022 तक पूरा हो जाएगा। टुपुल से इम्फाल घाटी तक फैले पुल का चौथा चरण और आखरी चरण दिसम्बर 2023 तक पूरा हो जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *