मुख्य बिंदु

अब विदेश से आने वाले हर यात्री के लिए सात दिनों के लिए क्वारंटीन रहना अनिवार्य हो गया है।
साथ ही क्वॉरंटीन के आठवें दिन विदेशी यात्रियों को आरटी-पीसीआर जांच कराना भी जरूरी है।
5 साल से कम उम्र के बच्चों को आगमन से पहले और बाद के परीक्षण दोनों से छूट दी गई है।
जिन देशों से आने पर यात्रियों को अतिरिक्त उपायों का अनुपालन करने की जरूरत होगी, उन देशों की अद्यतन सूची में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, चीन, घाना, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे,तंजानिया, हांगकांग, इजराइल, कांगो, इथियोपिया, कजाकिस्तान, केन्या, नाइजीरिया, ट्यूनीशिया और जांबिया शामिल हैं।

महामारी की चल रही तीसरी लहर के दौरान मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए एक नई गाइडलाइन जारी की थी, जो 22 जनवरी को प्रभावी हुई थी। मौजूदा हालात को देखते हुए मंत्रालय ने अब एक और लिस्ट जारी की है, जिसमें कुछ छूट देने की पेशकश की गई है। नए मानदंडों के अनुसार, आगमन पर पॉजिटिव पाए जाने वाले लोगों को एक आइसोलेशन सुविधा में क्वारंटाइन करना अनिवार्य होगा। 

7 दिन होम क्वारंटाइन के बाद 8वें दिन आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना होगा

संशोधित दिशानिर्देशों के अनुसार यात्रियों को यात्रा से पहले 72 घंटों के भीतर एयर सुविधा पर एक स्व-घोषणा फॉर्म और एक नकारात्मक आरटी पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट अपलोड करनी होगी। ‘बिना जोखिम’ वाले देशों से आने वाले यात्रियों सहित सभी यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा, जबकि “जोखिम वाले” देशों के यात्रियों को आगमन पर अपने खर्चे पर कोविड टेस्ट करवाना होगा। इन यात्रियों को परीक्षण के परिणाम की प्रतीक्षा करते समय कनेक्टिंग फ्लाइट छोड़ने या लेने से प्रतिबंधित किया गया है। नेगेटिव आने वाले यात्रियों को 7 दिनों के लिए क्वारंटाइन होगा पड़ेगा और 8 वें दिन दुबारा परीक्षण की रिपोर्ट अपलोड करनी होगी। जबकि वायरस से पॉजिटिव पाए जाने वाले यात्रियों को मानक प्रोटोकॉल के अनुसार घर पर खुद को आइसोलेट करने का विकल्प दिया जाएगा, और उनके नमूने जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेजे जाएंगे।

5 साल से कम उम्र के बच्चों को परीक्षण से छूट दी गई है

घर में आइसोलेशन में दी जाने वाली छूट से नागरिकों को बड़ी राहत मिलेगी। अब यात्रियों के पास घर पर ठीक होने और सात दिनों के बाद ऑनलाइन पोर्टल पर कोविड टेस्ट रिपोर्ट अपलोड करने का विकल्प है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *