मुख्य बिंदु

डीजीसीए (DGCA) ने बुधवार को नया सर्कुलर जारी कर विदेशी उड़ानों पर लगी रोक अब 28 फरवरी 2022 तक के लिए बढ़ा दी गई है।
डीजीसीए के अनुसार बबल सिस्टम के तहत आने जाने वाली फ्लाइट इस दौरान जारी रहेंगी।
इसके साथ ही कार्गो फ्लाइट और डीजीसीए की ओर से स्वीकृत फ्लाइट भी जारी रहेंगी।
अमेरिका में शुरू हो रही इंटरनेट 5जी सर्विस के कारण एयर इंडिया समेत कई कंपनियों ने यूएस से चलने वाली और वहां पहुंचने वाली उड़ाने रद्द कर दी है।
एयर इंडिया ने भी बीते बुधवार से इस रूट पर 14 उड़ाने रद्द कर दी है जिससे हजारों यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नियमित इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर सरकार ने 28 फरवरी तक रोक बढ़ा दी है। भारत में कोरोना महामारी के चलते 23 मार्च, 2020 से ही नियमित इंटरनेशनल फ्लाइट्स बंद हैं। हालांकि, बीते साल जुलाई 2020 से करीब 40 देशों के साथ बबल व्यवस्था के तहत स्पेशल फ्लाइट्स का ऑपरेशन हो रहा है।

डीजीसीए ने बीते बुधवार को जारी आधिकारिक आदेश में कहा कि ” सक्षम प्राधिकारी ने भारत आने वाली और भारत से जाने वाली नियमित इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक को 28 फरवरी रात 23:59 बजे तक जारी रखने का फैसला किया है। ‘यह रोक कार्गो फ्लाइट्स और डीजीसीए की अनुमति प्राप्त फ्लाइट्स पर लागू नहीं होगी। एयर बबल वाली फ्लाइट्स भी इससे प्रभावित नहीं होंगी।

अमेरिका में 5जी सिग्नल ने फ्लाइट्स पर लगाया ब्रेक

अमेरिका में शुरू हो रही इंटरनेट 5जी सर्विस के कारण एयर इंडिया समेत कई कंपनियों ने यूएस से चलने वाली और वहां पहुंचने वाली उड़ाने रद्द कर दी है। एयर इंडिया ने भी बीते बुधवार से इस रूट पर 14 उड़ाने रद्द कर दी है जिससे हजारों यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा दूसरे देशों से आने वाली फ्लाइट्स पर भी असर पड़ा है।

विमानन कंपनियों ने आग्रह किया कि नए 5जी फोन सर्विस के सिग्नल हवाई जहाजों के नेविगेशन सिस्टम को प्रभावित कर सकते हैं। अमेरिकी विमानन संस्था ने 14 जनवरी को कहा था कि विमान के रेडियो अल्टीमीटर पर 5जी के प्रभाव से इंजन और ब्रेकिंग सिस्टम रुक सकता है जिससे विमान को रनवे पर रोकने में दिक्कत आ सकती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *