केंद्र सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस बनाने को लेकर बड़ा ऐलान किया है। अब कार कंपनियां, ऑटोमोबाइल एसोसिएशन और एनजीओ को भी ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने की इजाजत होगी। ये संस्थान अपने सेंटरों में ट्रेनिंग पास कर चुके लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस जारी भी कर सकेंगे। अब लर्निंग लाइसेंस के लिए आपको परिवहन विभाग के दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। हालांकि, गाड़ियों के पंजीयन के लिए अभी आपको आरटीओ ही जाना पड़ेगा। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने इस बारे में नोटिस जारी कर दिया है। हालांकि, रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस पहले की तरह ही ड्राइविंग लाइसेंस जारी करते रहेंगे। फिलहाल आरटीओ में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए हर दिन हजारों संख्या में आवेदन आते हैं। हर शख्स का टेस्ट लेने में काफी समय लगता है। ऐसे में कई बार लोगों का नंबर आने में समय लग जाता है। लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया सरल बनाने के लिए केंद्र सरकार ने फैसला लिया है। इससे जनता को राहत मिलेगी।

अब आरटीओ के चक्कर लगाने नहीं होंगे

आपको बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस और उससे जुड़ी कई सेवाओं को लेकर केद्र सरकार समय-समय पर जरूरी दिशा निर्देश जारी करती रहती है। खासकर हाल के दिनों में यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, दिल्ली-एनसीआर और झारखंड जैसे राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में लर्निंग लाइसेंस और गाड़ियों के पंजीयन के लिए नए नियमों को लागू किया है। वहीं, कुछ राज्यों में अब सिर्फ ऑनलाइन ही आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं।

कोरोना काल के बाद से देश की तकरीबन सभी राज्यों की परिवहन विभाग ने लर्निंग लाइसेंस के लिए फीस जमा करने की व्यवस्था में बदलाव कर दिया है। अब नई व्यवस्था के तहत स्लॉट बुक होते ही लर्निंग लाइसेंस के लिए पैसे जमा करना पड़ रहा है, पैसे जमा करते ही जांच परीक्षा के लिए तारीख भी अपनी सुविधा के मुताबिक ले सकते हैं।

लाइसेंस संबंधित सेवाओं के लिए परिवहन विभाग के वेबसाइट पर जाकर ड्राइविंग लाइसेंस सेवाओं पर क्लिक करना होगा। आपको फॉर्म भरते समय अपने डीएल नंबर के साथ और भी पर्सनल जानकारियां देनी होंगी। इसके ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित और भी जरूरी कागजात को वेबसाइट पर अपलोड करना होगा।आरटीओ ऑफिस में बायोमेट्रिक डिटेल्स की जांच के बाद आपके सभी कागजात को सत्यापित किया जाएगा, इसके बाद आपके लाइसेंस का नवीनीकरण हो जाएगा। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *