मुख्य बिंदु

गोवा सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए।

यात्रियों को अनिवार्य आरटी-पीसीआर टेस्टिंग और सेल्फ आइसोलेशन से गुजरना होगा।

यह कदम ओमिक्रॉन वायरस के कारण वैश्विक कोविड मामलों में वृद्धि के चलते लिया गया है।

हाई-रिस्क वाले देशों से आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14-दिवसीय क्वारंटाइन से गुजरना होगा।

गोवा सरकार ने मंगलवार को राज्य में आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए। ओमिक्रॉन वायरस के प्रसार को रोकने के लिए यात्रियों को अनिवार्य आरटी-पीसीआर टेस्टिंग और सेल्फ आइसोलेशन से गुजरना होगा।

‘हाई-रिस्क वाले देशों के यात्रियों को क्वारंटाइन किया जाएगा

12 हाई-रिस्क वाले देशों से आने वाले यात्रियों, जहां ओमिक्रॉन संस्करण का पता चला है, को अनिवार्य रूप से 14-दिवसीय क्वारंटाइन से गुजरना होगा, जबकि अन्य को भी ऐसा करने की सिफारिश की जाती है। सरकार बुधवार को चार्टर्ड उड़ानों पर फैसला ले सकती है।

ओमाइक्रोन क्या है?

ओमिक्रॉन डब्ल्यूएचओ द्वारा कोरोनवायरस के सबसे नए वैरिएंट को दिया गया नाम है। यह अत्यधिक म्युटेटेड वैरिएंट, जिसे पहली बार 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में खोजा गया था, अपने पुराने वैरिएंट्स के मुकाबले अधिक संकीर्ण हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *