गोवा के पहले और एकमात्र विंटेज कार म्यूजियम के रूप में प्रसिद्द, अश्वेक विंटेज वर्ल्ड (एवीडब्ल्यू) जुलाई 2004 में स्थापित किया गया था। एक दर्जन से अधिक शानदार पुरानी गाड़ियां इसके संग्रह का एक हिस्सा हैं, जो गोवा या पड़ोसी क्षेत्रों जैसे सावंतवाड़ी और बेलगाम से एकत्रित की गई हैं। गोवा में अपनी तरह की पहला यह म्यूजियम प्रदीप वी. नाइक के दिमाग की उपज, एवीडब्ल्यू ने 2006 में भारत की पहली वोक्सवैगन कार्निवल रैली का भी आयोजन किया और इसी तरह के आयोजनों में अग्रणी रहा है। अश्वेक विंटेज वर्ल्ड के 17 साल के लंबे एवं अनुकरणीय सफर के बारे में और भी दिलचस्प तथ्य जानने के लिए पढ़ते आगे पढ़ें।

विंटेज आकर्षणों के प्रति प्रेम


वयस्कों के बीच विंटेज कारों के प्रति प्रेम को बढ़ाते हुए और आने वाली पीढ़ियों के दिलों में पुरानीयत के महत्त्व को उजागर करते हुए, अश्वेक विंटेज वर्ल्ड गाड़ियों के बदलते हुए सौंदर्य को दर्शाता है। अपने प्रांगण में एकत्रित शानदार गाड़ियों के ज़रिये आगंतुकों को पुराने समय की सैर पर ले जाते हैं। इसके बेशकीमती मॉडल हैं जैसे शेवरले फ्लीट मास्टर, जो 1930 के दशक में अमेरिका में 'माफिया स्टाफ कार' के रूप में प्रसिद्द थी और फोर्ड वी 8, प्यूज़ो 301, ऑस्टिन 1928 और मॉरिस 8 जैसी रोमांचक और खूबसूरत गाड़ियां।

अश्वेक विंटेज वर्ल्ड विंटेज वाहनों के लिए रिपेरिंग और संरक्षण कार्य भी करता है और इसके माध्यम से प्राप्त धन को कंपनी में पुनर्निवेश किया जाता है। इसके अलावा, इस स्थान की पहली मंजिल पर अक्सर पार्टियां और गेट टुगेदर का इंतज़ाम में किया जाता है।

नॉक नॉक

श्री नाइक यह कहते हैं, "एवीडब्ल्यू शिक्षा के रूप में काम करेगा। आगे आने वाली पीढ़ी के लिए गाड़ियों और उन्हें बनाने की पुरानी तकनीकों के खजाने को संरक्षित करने की तत्काल आवश्यकता है।"

इसलिए अगर आप कार के शौकीन नहीं हैं, तो भी कई मामलों में अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए इस संग्रहालय में जरूर जाएं। साथ ही, जब आप इस जगह की यात्रा शुरू करते हैं, तो कोरोना उपयुक्त व्यवहार न भूलें!

समय: सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक (कर्फ्यू प्रतिबंधों के कारण अलग भी हो सकता है)

दिन: सोमवार से शनिवार

स्थान: नुवेम, गोवा

विंटेज गाड़ियों से सम्बंधित अन्य लेख- जानें होलकर राजवंश के उस महाराजा के बारे में जिसके पास था शानदार और बेशकीमती गाड़ियों का संग्रह