गोवा जल्द ही एशिया के सबसे पुराने और देश के सबसे बड़े फिल्म समारोह, 52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव की मेजबानी करेगा। यह फिल्म फेस्टिवल 20 से 28 नवंबर के बीच आयोजित किया जाएगा, इस भव्य आयोजन की समय-सीमा की घोषणा करते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने महोत्सव के 52वें संस्करण का पोस्टर जारी किया। इस वर्ष, फिल्म समारोह निदेशालय (सूचना और प्रसारण मंत्रालय) कार्यक्रम में महान फिल्म निर्माता सत्यजीत रे को विशेष श्रद्धांजलि अर्पित करेगा।

प्रतियोगी खंड में प्रवेश 3 अगस्त तक स्वीकार किए जाएंगे

इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (एफआईएपीएफ) द्वारा मान्यता प्राप्त, आईएफएफआई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की अलग-अलग शैलियों की फिल्मों को एक मंच पर साथ लाता है। यह महोत्सव नए और प्रशिक्षित कलाकारों को उनके कामों को प्रदर्शित करने के लिए एक शानदार मंच देकर फिल्म निर्माण की कला का सम्मान करता है। हर वर्ष इस महोत्सव के दौरान कुछ बेहतरीन फिल्मों को सराहा जाता है, और भारत एवं दुनिया भर की सर्वश्रेष्ठ फिल्में भी दिखाई जाती हैं।

यह फिल्म समारोह निदेशालय (डीएफएफ), केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय, गोवा राज्य सरकार और भारतीय फिल्म उद्योग के सहयोगात्मक प्रयासों से आयोजित किया जाएगा। 51वें आईएफएफआई की सफलता को देखते हुए इस साल का आयोजन भी हाइब्रिड फॉर्मेट में किया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार, 52वें संस्करण के प्रतिस्पर्धी खंड में भाग लेने के लिए इसके प्रतिस्पर्धी खंड में भाग लेने के लिए एंट्रीज भी शुरू हो गई हैं, और प्रविष्टियां 3 अगस्त, 2021 तक स्वीकार की जाएंगी।

सत्यजीत रे के नाम पर इस साल से विशेष पुरस्कार दिया जाएगा


रिपोर्ट के अनुसार, विश्व स्तर पर प्रशंसित निर्देशक सत्यजीत रे को उनकी जन्मशती के अवसर पर 52 वें आईएफएफआई में एक विशेष पूर्वव्यापी कार्यक्रम के माध्यम से श्रद्धांजलि जी जाएगी। इसके अतिरिक्त, इस महान हस्ती के कार्यों व फिल्मों के क्षेत्र में इनके योगदान को सराहते हुए, इस वर्ष से आईएफएफआई ने 'सिनेमा में उत्कृष्टता के लिए सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड' देने करने का निर्णय लिया है।