मुख्य बिंदु:

– गोवा के बम्बोलिम गांव में एथलेटिक स्टेडियम का नाम बदलकर दिग्गज धावक स्वर्गीय मिल्खा सिंह के नाम पर रखा जाएगा।

– राज्य सरकार गोवा के उल्लेखनीय खिलाड़ियों के नाम पर अन्य स्टेडियमों और खेल केंद्रों के नाम रखे जाएंगे।

‘फ्लाइंग सिख ऑफ इंडिया’ को श्रद्धांजलि देते हुए गोवा के बम्बोलिम गांव में एथलेटिक स्टेडियम का नाम बदलकर दिग्गज धावक स्वर्गीय मिल्खा सिंह के नाम पर रखा जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री ने शुक्रवार इस महान धावक को श्रद्धांजलि देते हुए इस फैसले की घोषणा की। कथित तौर पर, राज्य सरकार गोवा के उल्लेखनीय खिलाड़ियों के नाम पर अन्य स्टेडियमों और खेल केंद्रों का नाम बदलने की योजना बना रही है, जिन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

गोवा में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए उठाए दा रहे हैं कदम


 मुख्यमंत्री ने तटीय राज्य के कैंपल इंडोर स्टेडियम में आयोजित एक सम्मान समारोह में नवीनतम घोषणाएं कीं। इस आयोजन में जहां खिलाड़ियों और एथलीटों को सम्मानित किया गया, वहीं मुख्यमंत्री ने राज्य के प्रमुख खेल केंद्रों का नाम बदलने की योजना की भी घोषणा की। कथित तौर पर, उन्होंने उल्लेख किया कि राज्य सरकार ने 300 करोड़ रुपये के खेल के बुनियादी ढांचे को सफलतापूर्वक स्थापित किया है।

जहां बेहतर सुविधाएं खिलाड़ियों के विकास में मदद करेंगी, वहीं वे अधिक युवाओं को खेल के क्षेत्र में जाले के लिए प्रेरित करेंगी। इसके अलावा, सीएम ने स्कूलों और कॉलेजों में शारीरिक शिक्षा के शिक्षकों को ऐसे उपायों को लागू करने के लिए कहा, जो छात्रों को खेल गतिविधियों के लिए प्रेरित कर सकें। इसके अतिरिक्त, उन्हें शारीरिक फिटनेस की जरूरतों और लाभों से भी अवगत कराया जाएगा।

नॉक-नॉक

टोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक में भारतीय एथलीटों की अभूतपूर्व जीत के साथ, राज्य और केंद्र सरकारों ने मजबूत बुनियादी ढांचे के विकास पर अपना ध्यान केंद्रित किया है। यदि भारतीय खिलाड़ियों को उन्नत सुविधाएं प्रदान की जाती हैं, तो देश में खेलों का भविष्य और भी उज्जवल हो सकता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *