गोवा में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए, राज्य सरकार ने घोषणा की है कि कक्षा 10 के छात्रों को बोर्ड परीक्षाओं से छूट दी जाएगी। इस निर्णय की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि राज्य बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूलों में नामांकित ऐसे सभी विद्यार्थियों को उनके द्वारा आंतरिक परीक्षणों में प्राप्त अंकों के अनुसार ग्रेड दिया जाएगा। जहां छात्र अंतिम मूल्यांकन को लेकर अनिश्चितताओं से परेशान थे, वहीं अब उनकी चिंताओं का समाधान कर दिया गया है।

छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए लिया गया यह निर्णय

इस निर्णय के बारे में बोलते हुए, सीएम ने उल्लेख किया कि मौजूदा परिस्थितियों के बीच, छात्रों और अभिभावकों दोनों को आगामी परीक्षाओं के कारण समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। छात्रों को संबोधित करते हुए, उन्होंने कहा, “पिछले कई दिनों से, माता-पिता, शिक्षक और छात्र भी गोवा बोर्ड (माध्यमिक और उच्च माध्यमिक परीक्षा) और यहां तक ​​कि मुझे व्यक्तिगत रूप से, एक शिक्षा मंत्री के रूप में फोन कर रहे थे, या जब भी वे मुझसे मिलते हैं तो पूछते थे कि परीक्षा कब और कैसे होगी और क्या फैसला लिया जाएगा।”

उन्होंने आगे बताया कि गोवा बोर्ड को इस मामले पर निर्णय लेने के लिए एक समिति बनाने का निर्देश दिया गया था। इस प्रकार, यह निर्णय गोवा बोर्ड, शिक्षा विभाग, शिक्षकों और प्रबंधन के बीच विचार-विमर्श के बाद लिया गया है। रविवार को एक ऑनलाइन बैठक के बाद प्रशासन ने छात्रों की एक बड़ी संख्या की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया। गौरतलब है कि अभी 12वीं कक्षा के छात्रों की परीक्षाओं का फैसला होना बाकी है। अधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, राज्य में एसएससी और एचएसएससी परीक्षाओं के लिए कुल 43,547 छात्र पंजीकृत हैं।

गोवा में कोविड की स्थिति

गोवा में रविवार को संक्रमण के 1621 नए मामले सामने आए जबकि स्वस्थ होने वालों में 2,545 का इजाफा हुआ। इससे सक्रिय मामलों में मामूली कमी आई है, लेकिन 17,277 रोगियों की बड़ी संख्या अभी भी क्षेत्र में बनी हुई है। अब तक, राज्य में कुल 1,46,460 व्यक्ति इस वायरस से प्रभावित हुए हैं और 2,383 मौतें दर्ज की गई हैं।

-आइएनएस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *