दूसरी लहर की पकड़ ढीली पड़ने से गोवा की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। शुक्रवार को यहां केवल 2 लोगों की मौत हुई, जिससे मृत्यु दर अप्रैल के बाद से सबसे निचले स्तर पहुंच गया है। इसके अलावा, सक्रिय टैली में भी मंगलवार को 2,241 रोगियों के साथ गिरावट दर्ज की गई है। आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, तटीय राज्य में एक ही दिन में 213 नए संक्रमण के मामले सामने आए और 286 लोग स्वस्थ हुए।

राज्य की 52% पात्र आबादी को टीके की पहली खुराक लगाई गई

जहां राज्य में सकारात्मकता दर में गिरावट आई है, वहीं रिकवरी रेट में मामूली वृद्धि हुई है, और उम्मीद है कि आने वाले दिनों में स्थिति में सुधार होगा। इसके बावजूद, 5 जुलाई तक राज्य में कर्फ्यू जारी रहेगा, लेकिन प्रतिबंधों में ढील दी गई है। इसके अलावा, अधिकारियों ने यह सुनिश्चित करने के लिए व्यापक उपाय शुरू किए हैं कि पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में पाया गया डेल्टा प्लस स्वरूप गोवा में प्रवेश न कर पाए।

पिछले कुछ दिनों में संक्रमण और मृत्यु दर का ग्राफ में लगातार गिरावट दर्ज की गई  है। अब, सभी स्थिति को नियंत्रण में रखते हुए तीसरी लहर की संभावनाओं को कम करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। राज्य में 52 प्रतिशत आबादी को टीके की पहली खुराक लगाने में सफल रहा है, जबकि 7.4% निवासियों को टीके की दोनों डोज़ लगाई जा चुकी है। अधिकारियों द्वारा किए जा रहे कई उपायों को देखते हुए, यह कहा जा सकता है कि गोवा अपने सभी नागरिकों का निर्धारित समय सीमा के अनुसार टीकाकरण करने में सक्षम होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *