दक्षिण पश्चिम रेलवे के वास्को-कुलेम खंड को सुधारने के लिए, रेल अधिकारियों ने डबल-ट्रैकिंग परियोजना के प्रयासों में तेज़ी लाने फैसला किया है। जबकि महामारी के कारण मजदूरों के राज्य से पलायन करने के कारण योजनाएं ठप पड़ गई थीं, कार्यों को अब तेज़ गति से दुबारा शुरू किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, कुलेम और मजोरदा के बीच दूसरा ट्रैक स्थापित किया गया है और रेल विकास निगम लिमिटेड मार्च 2022 तक इस हस्तक्षेप पूरा करने का प्रयास करेगा।

अधिकारी पटरियों को शीघ्र चालू करने के प्रयासों में जुटे हैं

कथित तौर पर, दूसरे ट्रैक के लिए ट्रायल रन जल्द ही आयोजित किया जाएगा। इसके अलावा, रिपोर्ट में कहा गया है कि स्थानीय निवासियों के विरोध के कारण मजोरदा से वास्को तक के निर्माण में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जबकि नागरिकों को लगता है कि चल रही योजना क्षेत्रीय जैव विविधता के लिए खतरा साबित हो सकती है, अधिकारी इस कार्य के लिए आगे की योजना बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

इस वजह से देरी की उम्मीद की जा सकती है लेकिन गोवा में डबल ट्रैक रूट के चालू होने की तारीख में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। निवासियों की समस्याओं को हल करने के लिए, मोरमुगांव के डिप्टी कलेक्टर भूमि अधिग्रहण प्रस्तावों से संबंधित आपत्तियों को देख रहे हैं।

पूरे डबल ट्रैक का किया जाएगा विद्युतीकरण 

नवनिर्मित डबल ट्रैक रूट के विद्युतीकरण का काम चल रहा है। रिपोर्टों के अनुसार, जिन क्षेत्रों को अभी तक डबल-ट्रैक नहीं किया गया है, उन्हें भी विद्युतीकृत किया जाएगा और सिंगल लाइन ट्रैक के रूप में चालू किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, होस्पेट-हुबली-तिनिगेट-वास्को डबल-ट्रैक रूट का भी विद्युतीकरण किया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *