सार्वजनिक प्रणालियों में जीवन की सुगमता और पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए, गोवा में परिवहन निदेशालय ने आरटीओ वेबसाइट या गोवा परिवहन पोर्टल पर लर्नर लाइसेंस के लिए एक ई-सेवा शुरू की है। इस नए प्रावधान से लोगों को बार-बार आरटीओ जाने की आवश्यक्ता नहीं पड़ेगी, क्योंकि फॉर्म, परीक्षण और लाइसेंस को अब डिजिटल रूप से प्राप्त किया जा सकता है। कथित तौर पर, इस सेवा को 5 जुलाई को लॉन्च किया गया था।

लर्नर लाइसेंस के लिए ऑनलाइन परीक्षा में प्राप्त करने होंगे 60% अंक

गोवा प्रशासन और परिवहन निदेशालय ने जनता की आसानी के लिए एंड-टू-एंड ऑटो अप्रूवल ई-सर्विस लाइसेंस सिस्टम (end-to-end auto apporoval e-service license system) तैयार किया है। आवेदन प्रक्रिया अब डिजिटल माध्यम पर की जा सकेगी, जिससे आरटीओ जाने की आवश्यकता समाप्त हो जाएगी। आवेदकों को वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई सड़क सुरक्षा के बारे में एक वीडियो देखना होगा, जिसके बाद एक ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा के परिणाम उम्मीदवार को तुरंत मिल जाएंगे।

यदि उम्मीदवार, इस परीक्षा में 60% अंक प्राप्त करते हैं, तो एक लर्नर लाइसेंस जारी किया जाएगा। परिवहन विभाग द्वारा प्रसारित एक बयान में कहा गया है कि लोगों को दस्तावेज़ सत्यापन के लिए आरटीओ जाने की आवश्यकता नहीं है, इसे आधार पहचान के माध्यम से प्रमाणित किया जाएगा। इससे यह निष्कर्ष निकलता है कि आवेदक इस फॉर्म को अपने घर से ही आसानी से डाउनलोड और प्रिंट कर सकते हैं।

 प्रमाणपत्रों की वैधता बढ़ाई गई 

इस बीच, गोवा परिवहन विभाग ने फिटनेस प्रमाण पत्र, परमिट, ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण, या किसी भी अन्य संबंधित दस्तावेजों जैसे कई दस्तावेजों की वैधता बढ़ा दी है, जिन्हें लॉकडाउन की स्थिति के मद्देनज़र नवीनीकृत (रिन्यू) नहीं किया जा सकता है। जैसे, 1 फरवरी, 2020 के बाद समाप्त हो चुके सभी दस्तावेजों को अब 30 सितंबर तक प्रामाणिक माना जाएगा। प्रवर्तन अधिकारियों को भी उन्हें वैध दस्तावेजों के रूप में देखने का निर्देश दिया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *