गोवा की प्राकृतिक सुंदरता के बीच यहां के स्थानीय लोगों के बीच कई कहानियां भी प्रसिद्ध हैं। कई व्यंजन और उससे जुड़ी चीज़ें भी इन स्थानीय कहानियों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। हालांकि, लोग गोवा के व्यंजनों का स्वाद चखना तो चाहते हैं, लेकिन अक्सर वह गोवा की संस्कृति से जुड़े कई व्यंजनों को जानकारी के अभाव में नहीं खा पाते।

गोवा की पाक संस्कृति (गोअन क्यूजीन) काफी समृद्ध है और यहां कई ऐसी खाने की चीज़ें मिलती हैं जो बेहद लज़ीज़ होती हैं। लेकिन बाहर से आने वाले लोगों के लिए इसकी जानकारी कम होती है। गोवा में मिलने वाली अलग-अलग प्रकार की ब्रेड भी ऐसे हीं व्यजंनों में से एक है। नाना प्रकार की ब्रेड के बीच, पोई नाम की ब्रेड यहां के स्थानीय लोगों के बीच बहुत लोकप्रिय है, पोई गोअन क्यूज़ीन की एक उत्कृष्ट कृति है, जिसे लोग चाव से खाते हैं। हम आपको इस ब्रेड के इतिहास के साथ उन स्थानों के बारे में बताएंगे जहां आप इस बेहतरीन ब्रेड का स्वाद चख पाओ। 

जानें कहानी पोई की

कहानियों के मुताबिक, जब पुर्तगालियों ने लगभग 400 साल पहले भारत पर पहली बार आक्रमण किया था, तो वे देश में अन्य वस्तुओं के साथ मिर्च, काजू और आलू लाए थे। हालांकि उन्होंने यहां के स्थानीय व्यंजनों को अपना लिया था, लेकिन फिर भी उन्हें कुछ कमी महसूस होती थी।

कुछ समय बाद अपने मांसयुक्त भोजन के साथ अपने ‘पाओ’ की कमी सताने लगी, लेकिन आटे को फरमेंट करने के लिए सही प्रकार के यीस्ट (yeast) को खोजना उनके लिए एक कठिन काम था। इसलिए एक विकल्प के रूप में, यूरोपीय लोगों ने अपनी ब्रेड में खमीर पैदा करने के लिए ताड़ी (स्थानीय ताड़ की शराब) का उपयोग करना शुरू कर दिया और इन्हें पारंपरिक रूप से लकड़ी से बने ओवन में पकाया जाता था, जिसे सीधे पत्थर पर रखा जाता था। वर्तमान में, पोई को गेहूँ के आटे से बनाया जाता है और बीच में से ये थोड़ी फूली हुई होती है। पोई काफी हद तक पीटा ब्रेड जैसी दिखती है और इसे मसालेदार करी और गाढ़ी ग्रेवी को साथ परोसा जाता है।

गोवा में इन स्थानों पर मिलती है बेहतरीन पोई 

गोवा में प्रसिद्ध अन्य चीज़ों के बीच, पोई ने भी अपना महत्वपूर्ण स्थान बनाया है। यह स्वादिष्ट पाव आपको गोवा की किसी भी बेकरी में मिल जाएगा। तो एक बार जब महामारी का असर कम हो जाए, तो आप गोवा में बेहतरीन पोई के लिए फ्लोरेंटाइन बार एंड रेस्तरां (Florentine Bar & Restaurant), रीटा बेकरी (Rita Bakery), द गोडिन्हो बेकरी (The Godinho Bakery) और मजोरदा में फ्रेंच बेकरी पर जा सकते हैं।

अगर आप इन स्थानों तक नहीं भी पहुंच पाते हैं, तो यहां अन्य बेकरीयां भी आपको बिल्कुल निराश नहीं करेंगी, क्योंकि पोई की रेसिपी पीढ़ियों से चली आ रही है और इसे राज्य के हर पोडर (बेकर) द्वारा प्यार से बनाया जाता है। .

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *