गोवा कोरोना संकट की दूसरी लहर से लगातार लड़ रहा है वहीं 'वेदांता सेसा गोवा आयरन ओर' (Vedanta Sesa Goa Iron Ore) ने राज्य के मेडिकल ढांचे के बोझ को हल्का करने के लिए अपना समर्थन प्रदान किया है। राज्य में महामारी के खिलाफ मेडिकल सुविधाओं को बढ़ाने के लिए इस माइनिंग कंपनी ने बम्बोलिम (Bambolim) के गोवा मेडिकल कॉलेज में 100 बिस्तरों की सुविधा को बढ़ाने का निर्णय लिया है।

वेदांता प्रतिदिन 3 टन मेडिकल ऑक्सीजन सप्लाई करेगा


गोवा में संक्रमण के प्रभाव को हल्का करने की पहल में वेदांता ने राज्य के मेडिकल ढाँचे और इलाज की सुविधाओं को बढ़ाने और बेहतर बनाने के लिए मदद का हांथ बढ़ाया है। कथित तौर पर यह 100 बेड की सुविधा प्रदान करेंगे जिनमें से 80 ऑक्सीजन युक्त हैं और 20 क्रिटिकल केयर के लिए हैं और 5 वेंटीलेटर हैं। इसके अलावा एक अस्पताल को चलाने के लिए अन्य उपकरण और सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी। इस सुविधा का क्लीनिकल ढांचा अगले 15-20 दिनों में पूरा होने की उम्मीद है।

इस सहयोग के अलावा वेदांत सेसा ने जिला प्रशासन और गोवा सरकार को ऑक्सीजन सपोर्ट देना का भी निश्चय किया है। अमोना प्लांट से करीब 3 टन LMO प्रतिदिन सप्लाई किया जाएगा। अभी तक इस औद्योगिक यूनिट ने 60 टन से अधिक मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन प्रदान किया है। वेदांता द्वारा इस समर्थन की पहल में 200 कॉन्सेंट्रेटर भी शामिल हैं जिनमें से 100 प्रदान किये जा चुके हैं।

वेदांता आयरन एंड स्टील, लिमिटेड के सीईओ सौविक मजूमदार ने कहा, "वेदांता में लोगों की देखभाल और हमारे राष्ट्र का विकास हमारे डीएनए में है और हम इसके प्रति निरंतर प्रयासरत रहते हैं। कोरोना संक्रमण की इन कठिन परिस्थितयों में हम लोगों को अपना सहयोग देने में विश्वास रखते हैं। हम विभिन्न माध्यमों से कोरोना का मुकाबला करने में गोवा सरकार का लगातार समर्थन कर रहे हैं, और अपने सामूहिक प्रयासों के माध्यम से, हम इस कोरोना महामारी से निपटेंगे।

संक्रमण की पहली लहर में वेदांता का समर्थन

ये पहली बार नहीं है जब वेदांता लिमिटेड ने महामारी के दौरान गोवा के हित के लिए कार्य किये हैं। पिछले साल संक्रमण की पहली लहर में भी राज्य प्रशासन, फ्रंटलाइन वर्कर्स और समुदायों को खाना और किराना प्रदान किया था। नागरिक स्वच्छता को सर्वोत्तम करने के लिए उन्होंने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क, सैनिटाइजर बांटे थे और जागरूकता अभियान और यहां तक कि स्वच्छता अभियान भी चलाया था।