गोवा में कोरोना वायरस के मामलों की बढ़ती दर को नियंत्रित करने के लिए, राज्य प्रशासन ने तटीय राज्य में आने वाले सभी रेल यात्रियों के लिए यात्रा प्रोटोकॉल जारी किए हैं। कथित तौर पर, गोवा के सभी भारतीय रेल यात्रियों द्वारा नेगेटिव आरटी-पीसीआर कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट दिखाने के बाद ही राज्य में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। सूचीबद्ध प्रोटोकॉल के अनुसार, गोवा में यात्रियों को सफर से 72 घंटे पहले तक की कोविड निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी।

ट्रेनों से गोवा जाने वाले लोगों के लिए जारी किए गए दिशानिर्देश


गोवा कोरोनो वायरस संक्रमण की दूसरी खतरनाक लहर के प्रकोप का सामना कर रहा है, और इसके परिणामस्वरूप, राज्य के बाहर से आने वाले लोगों की जांच शुरू कर दी गई है ताकि बाहर से संक्रमण के मामलों को राज्य में आने से रोका जा सके। प्रशासन ने ऐसे मामलों के खिलाफ अधिकतम सावधानी सुनिश्चित करने के लिए यात्रा प्रोटोकॉल जारी है। गोवा पहुंचने वाले सभी रेल यात्रियों के लिए को अपने साथ एक नकारात्मक RT-PCR कोविड-19 परीक्षण रिपोर्ट या पूर्ण टीकाकरण प्रमाणपत्र (दोनों खुराक) रखना अनिवार्य किया गया है।

इनमें कुलेम, संवर्डम चर्च, मड़गांव, वास्को डा गामा सहित अन्य रेलवे स्टेशन शामिल होंगे। यात्रियों को यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि वे राज्य में प्रवेश प्राप्त करने के लिए वेरीफाइड दस्तावेजों को ले जाएं। सभी चेक-पोस्ट को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है कि इसमें कोई भी ढिलाई न की जाए।

हालांकि, उत्तर रेलवे ने विशेष श्रेणियों को सूचीबद्ध किया है जिन्हें उपरोक्त यात्रा प्रोटोकॉल से छूट दी गई है। इसमे यह लोग शामिल हैं -

गोवा के स्थानीय लोग - यदि निवासियों के पास नकारात्मक रिपोर्ट नहीं है तो निवास का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा

व्यवसाय से संबंधित यात्रा - ऐसे यात्रियों को अपना वर्क आईडी, पहचान प्रमाण या पत्र दिखाना होगा जिससे यात्रा के उद्देशय को वैध माना जा सके।

चिकित्सा-आपातकालीन यात्रा - ऐसे लोगों को आपातकालीन स्थिति होने का प्रमाण देना होगा (डॉक्टर की रसीदें, पर्चे दिखाकर) या राज्य में एम्बुलेंस से आकर इसका प्रमाण देना होगा।

यात्रियों को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि यात्रा के दौरान वे सभी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। यात्रियों को डबल मास्क पहनना चाहिए, अपने हाथों को साफ करना चाहिए और यात्रा के समय साथी यात्रियों से सुरक्षित दूरी बनाए रखना चाहिए।