जहां देश के विभिन्न हिस्सों में 18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए व्यापक टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है, गोवा में 45 वर्ष से अधिक व्यक्तियों के टीकाकरण कार्यक्रम में भाग लेने वाले लोगों की संख्या में कमी देखी गई है। इस समस्या को देखते हुए में, राज्य प्रशासन अब फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में नाविकों, मोटरसाइकिल पायलटों और टैक्सी ड्राइवरों को शामिल करके टीकाकरण के दायरे को बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस नवीनतम निर्णय से बड़ी संख्या में लाभार्थी लाभान्वित होंगे।

टीकाकरण का दायरा बढ़ाने के लिए राज्य की योजना


रिपोर्ट के अनुसार, नाविकों को जहाजों पर चढ़ने की अनुमति तभी दी जाती है, जब वे टीकाकरण का प्रमाण दिखाते हैं। इस पहल से टैक्सी ड्राइवरों और बाइक पायलटों की सहायता को लाभ मिलेगा। विशेष रूप से, गोवा के समुद्र तटों पर तैनात लाइफगार्ड पहले से ही फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में शामिल थे और अब, प्राप्तकर्ताओं की सीमा को और बढ़ा दिया गया है।

राज्य के टीकाकरण कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए गोवा सरकार द्वारा शुरू किए गए कई कार्यक्रमों के बावजूद, टीकाकरण करवाने वाले नागरिकों की संख्या पर्याप्त नहीं रही है। हाल ही में, राज्य ने 45 वर्ष से अधिक के नागरिकों के बीच टीकाकरण के दायरे को बढ़ाने के लिए टीका उत्सव 2.0 की शुरुआत की थी, लेकिन उसमें भी लोगों संख्या कम रही। इससे राज्य के पास बची हुई खुराक का भंडार है, जिसका उपयोग अब नए लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए किया जाएगा।

वर्तमान में, 18-45 वर्षीय व्यक्ति, सहरुग्णता वाले लोग, स्तनपान कराने वाली माताएं, मोटरसाइकिल पायलट, रिक्शा चालक, टैक्सी चालक, नाविक और विकलांग प्राथमिकता वाले अभियान में भाग ले सकते हैं। अब तक, पूरे गोवा के निवासियों को कुल 5,28,934 वैक्सीन जैब्स दिए जा चुके हैं।

मामलों में गिरावट से गोवा को मिली राहत


सोमवार को सामने आए 602 नए संक्रमणों और 1,825 लोगों के ठीक होने के साथ, गोवा में सक्रिय रोगियों की संख्या घटकर 12,763 हो गई है। जबकि कुल मिलाकर 1,55,666 व्यक्ति इस घातक बिमारी से प्रभावित हुए हैं, राज्य में अब तक वायरस के कारण कुल 2,649 लोगों की जान जा चुकी है। मामलों में आई कमी के बावजूद , गोवा को सावधानी बरतने की और कड़े उपायों की सख्त आवश्यक्ता है।