गोवा में कोरोना के मामलों की घटती दर के बीच, राज्य प्रशासन ने शुक्रवार को यहां केवल दो प्रमुख सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में वायरस का इलाज जारी रखने का फैसला किया। दक्षिण गोवा जिला अस्पताल और गोवा मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशियलिटी यूनिट को छोड़कर, अन्य सभी सरकारी संस्थानों को कोविड उपचार केंद्र होने से विमुक्त कर दिया गया है। ताज़ा मामलों के अलावा, यहां दैनिक मृत्यु दर में भी गिरावट आई है, जो 'दूसरी लहर' के गुज़रने का संकेत है।

गोवा में सरकारी अस्पताल अब ओपीडी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं


गोवा के मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को दो सरकारी केंद्रों को छोड़कर सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड उपचार सुविधा बंद करने की घोषणा की। मानसून में बीमारी के प्रसार से निपटने के लिए बाकी सरकारी केंद्रों पर सभी ओपीडी सेवाएं पहले ही बहाल कर दी गई हैं।

ताजा कोविड मामलों की सीमित वृद्धि ने राज्य को इस निर्णय को लागू करने में मदद की है। सीएम ने कहा कि, "इन अस्पतालों में कई बेड खाली थे, भले ही सुविधाओं को विमुक्त कर दिया गया हो, हम किसी भी समय उन्हें फिर से शुरू करने की स्थिति में हैं।"

सीएम ने आगे संवाददाताओं से कहा कि गोवा में चल रहे कोविड ​​​​कर्फ्यू को 28 जून से आगे बढ़ाया जाएगा। जल्द ही विस्तृत आदेश मिलने की उम्मीद है।