भारतीय मौसम विभाग ने आगामी दक्षिण-पश्चिम मानसून को देखते हुए, राज्य में आवश्यक तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए 11 से 13 जून तक गोवा में एक ऑरेंज ग्रेड रेन अलर्ट (orange grade rain alert) जारी किया है। आज से, तटीय राज्य में भारी बारिश होने की संभावना है। पूर्वानुमान के अनुसार यहां एक सप्ताह तक यह स्थिति बनी रहेगी। आपात स्थिति में आपदा के प्रभाव को कम करने के लिए आईएमडी बाढ़ और भूस्खलन वाले क्षेत्रों पर भी एहतियाती नजर रखेगा।

गोवा में मॉनसून के कारण होगी तेज़ बारिश


गोवा के तट पर दक्षिण-पश्चिम मानसूनी तेज़ हवाएं चलने की संभावना है, जिससे आज से यहां भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में इस मानसून का पहला कम दबाव का क्षेत्र तैयार हो रहा है। नतीजतन, मानसूनी हवाएं भारत के पश्चिमी तट पर और तीव्र होंगी, जिससे गोवा और पड़ोसी क्षेत्रों में प्रचुर मात्रा में वर्षा होगी।

पूर्वानुमान के अनुसार अगले 5 से 6 दिनों तक बारिश इस बेल्ट को कवर करेगी। इस अवधि के दौरान, गोवा में भारी से बहुत भारी वर्षा (24 घंटों में 115.6-204.4 मिमी) होने का अनुमान है। रिपोर्ट के अनुसार, 12 जून से राज्य में अलग-थलग, अत्यधिक भारी बारिश (24 घंटों में 204.4 मिमी से अधिक) होगी। आईएमडी के वैज्ञानिकों ने कहा कि विभाग स्थिति की लगातार निगरानी करेगा और उसके अनुसार लगातार अपडेट साझा करेगा।

मौसम विभाग ने कहा है कि करीब 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं बारिश के साथ होंगी। इस प्रकार, भूस्खलन और बाढ़ जैसी वर्षा आपदाओं के प्रति सर्वेक्षण और एहतियात बरतने के लिए भी अलर्ट जारी किए गए हैं।