गोवा के लाइफगार्ड और दिव्यांग नागरिकों को लाभ पहुंचाने के लिए राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें फ्रंटलाइन वर्कर्स के रूप में वर्गीकृत (classified) किया है। यह नवीनतम अधिसूचना समाज के दोनों वर्गों के लिए टीकाकरण की प्रक्रिया को आसान बनाएगी और उन्हें कोविड की दूसरी लहर से लड़ने में मदद करेगी। जबकि लाइफगार्ड्स का टीकाकरण आज यानी 25 मई से शुरू हो रहा है, वहीं दिव्यांगों के टीकाकरण का कार्यक्रम गोवा के समाज कल्याण विभाग के साथ परामर्श के बाद जारी किया जाएगा।

लाइफगार्ड्स का टीकाकरण आज से शुरू


राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी नवीनतम अधिसूचना में, गोवा ने लाइफगार्ड और विकलांग नागरिकों को फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में वर्गीकृत किया है। यह निर्णय निश्चित रूप से राज्य भर में टीकाकरण की प्रक्रिया को तेज करने में मदद करेगा, जिससे गोवा को महामारी के खिलाफ लड़ाई में मदद मिलेगी।

गोवा की तटीय रेखा पर एक निजी एजेंसी द्वारा लाइफगार्ड्स नियुक्त किए गए हैं, जो समुद्र तटों और रिवरफ्रंट पर जाने वालों के जीवन को बचाने के लिए जिम्मेदार हैं। इनका टीकाकरण 25 मई से शुरू होगा। रिपोर्ट के अनुसार, इस प्रक्रिया के लिए खुद को मान्य करने के लिए लाइफगार्ड्स को राज्य के पर्यटन विभाग से एक प्रमाण पत्र प्राप्त करना होगा।

दिवायंगों के टीकाकरण का कार्यक्रम, राज्य का स्वास्थ्य विभाग समाज कल्याण विभाग के परामर्श के बाद तैयार किया जाएगा। यह परामर्श यह सुनिश्चित करने के लिए किया जाएगा कि टीकाकरण के लिए आने पर विकलांगों को कोई असुविधा न हो।

गोवा में कोविड के मामले

गोवा में सोमवार तक कोविड के मामलों की संख्या 1,47,861 थी और मरने वालों की कुल संख्या 2,421 है। इसके अलावा, गोवा के एपेक्स अस्पताल में रिपोर्ट किए गए ब्लैक फंगस संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है।