गोवा एक ऐतिहासिक जीत के साथ देश भर में रेबीज मुक्त होने वाला पहला राज्य बनकर उभरा है। मुख्यमंत्री ने बुधवार को जानकारी दी कि तटीय राज्य में पिछले तीन वर्षों में रेबीज का कोई इतिहास नहीं रहा है। यहां संक्रमण को नियंत्रित करने और खत्म करने के लिए, एक केंद्रीय ग्रांट के माध्यम से चलाए जा रहे मिशन रेबीज परियोजना के बैनर तले यह उपलब्धि हासिल की गई है।

गोवा रेबीज के प्रसार को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करता है



गोवा ने राज्य भर में स्वास्थ्य और कल्याण के क्षेत्र में एक बेहतरीन उपलब्धि हासिल की है। मुख्यमंत्री ने कथित तौर पर बुधवार को एक बयान में कहा, "हमें यह कहते हुए खुशी हो रही है कि पिछले तीन वर्षों में, हमारे पास गोवा में रेबीज का एक भी मामला नहीं आया है।" इसके साथ, गोवा भारतीय उपमहाद्वीप में पहला और एकमात्र राज्य है, जिसने इस लक्ष्य को हासिल किया है और इसके तहत एक और उपलब्धि हासिल की है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मिशन रेबीज परियोजना की सराहना की जो केंद्र सरकार के अभियान है, जिसके माध्यम से गोवा के रेबीज मुक्त राज्य बनने के प्रयास को गति मिली। उन्होंने आगे कहा, "मिशन रैबीज संगठन सभी राजनीतिक नेताओं, पंचायतों के साथ बहुत काम कर रहा है और जागरूकता पैदा करने के कारण हम इस लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम हैं।"

सीएम ने आज कैबिनेट की बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा की "हमने अब रेबीज के खिलाफ 5,40,593 टीकाकरण हासिल कर लिया है और पूरे गोवा में कुत्ते के काटने की रोकथाम में लगभग एक लाख लोगों को शिक्षित किया गया है, साथ ही 24 घंटे रेबीज निगरानी की स्थापना की गयी है जिसमें एक आपातकालीन हॉटलाइन और कुत्ते के काटने वाले पीड़ितों के लिए जल्द से जल्द प्रतिक्रिया देने वाली टीम शामिल है।"