खिलाड़ियों की प्रतिभा को बढ़ावा देने के लिए और उन्हें सहीं प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से खेल मंत्रालय ने घोषणा की है कि गोवा में 2 खेलो इंडिया केंद्र स्थापित किए जाएंगे। इसके अलावा, 7 अन्य राज्यों में 143 खेलो इंडिया केंद्र स्थापित किए जाएंगे, इस प्रस्ताव को हाल ही में केंद्रीय मंत्रालय द्वारा मंजूरी दे दी गई है। इस नवीनतम पहल के कार्यान्वयन से तटीय राज्य में खेल के बुनियादी ढांचे को और भी मजबूत बनाने में मदद मिलेगी।

राज्य को नए स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स बनने से मिलेंगे कई फायदे

केंद्रीय एजेंसी द्वारा जारी प्रेस रिलीज़ के अनुसार, गोवा में दो केंद्र लगभग 80 लाख रुपये की लागत से तैयार किए जाएंगे और इन्हें राज्य के दो अलग-अलग जिलों में स्थापित किया जाएगा, इस सुविधा से उभरते खेल पेशेवरों को अपनी प्रतिभा को निखारने का अवसर मिलेगा। रिपोर्ट के अनुसार, गोवा के अधिकारी नए केंद्रों में कोच या संरक्षक की भूमिका निभाने के लिए पूर्व खिलाड़ियों और सेवानिवृत्त खिलाड़ियों को शामिल करने का प्रयास करेंगे जिन्होनें अपने-अपने क्षेत्रों में महारत हासिल की है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि गोवा के खेल प्राधिकरण को नवीनतम परियोजनाओं के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण से धन प्राप्त होगा। रिपोर्ट के अनुसार, गोवा कैबिनेट के खेल मंत्री ने हाल ही में घोषित योजना के लाभार्थियों में से एक के रूप में राज्य को चुनने के लिए केंद्रीय मंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया।

केंद्रीय खेल मंत्री ने कहा कि जिला और क्षेत्रीय स्तर पर अपने संसाधनों में सुधार करके देश को 2028 के ओलंपिक के लिए तैयार रहने की जरूरत है। नए केंद्रों की स्थापना के साथ, बेहतर गुणवत्ता वाले उपकरण और अन्य सुविधाएं के साथ, अधिकारियों को नई प्रतिभा खोजने में मदद मिलेगी, जिन्हें राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्लेटफार्मों पर खेलों में बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।