जरूरी बातें

गोवा सरकार ने राज्य में कोरोना ​​मामलों में स्पाइक को देखते हुए नए प्रतिबंध लगाए हैं।

आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत प्रशासन द्वारा नई गाइडलाइन जारी की गयी।

पूर्ण टीकाकरण वाले या नेगटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट वाले लोग ही अब गोवा में प्रवेश कर सकेंगे।

गोवा में सभी एंटरटेनमेंट जोन 50 % क्षमता पर चलेंगे।

तीसरी कोरोनवायरस की लहर के जोखिम को खत्म करने के प्रयास में, गोवा सरकार ने राज्य भर में कोरोना ​​मामलों में स्पाइक को देखते हुए नए प्रतिबंध लगाए हैं। प्रशासन द्वारा बुधवार को जारी आदेश के अनुसार, केवल पूर्ण टीकाकरण वाले या नेगटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट (72 घंटे से अधिक पुराने नहीं) वाले लोगों को ही अब गोवा में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के प्रावधानों के तहत प्रशासन द्वारा निर्धारित सभी नयी महामारी की गाइडलाइन्स यहां देखें।

मनोरंजन क्षेत्र 50% क्षमता पर चलेंगे

गोवा में कोरोना संक्रमण में अचानक वृद्धि देखने के बाद, प्रशासन ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कुछ आपातकालीन उपाय करने का निर्णय लिया है। नए प्रतिबंधों में, कैसीनो, सिनेमा हॉल, सभागार, सामुदायिक हॉल, रिवर क्रूज, वाटर पार्क, मनोरंजन पार्क अब अपनी पूर्व-कोरोनावायरस क्षमता के 50% पर काम करेंगे। इसके अलावा, केवल पूरी तरह से टीकाकरण वाले लोगों या नेगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट रखने वाले, (जो प्रवेश के समय 24 घंटे से अधिक पुराने नहीं हैं), को इन स्थानों में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी।

अगले आदेश तक पूरे गोवा में जारी रहेगा प्रतिबंध

स्पा, मसाज पार्लर, रेस्तरां, बार, जिम, पब और सिनेमा हॉल सहित सार्वजनिक मनोरंजन के सभी स्थानों में प्रवेश पर मास्क, थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजर सहित सभी निर्धारित कोरोना सुरक्षा प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना होगा।

इन स्थानों के मालिकों या प्रबंधन को परिसर में इनमें से किसी भी नियम के उल्लंघन के लिए जवाबदेह ठहराया जाएगा।

इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 के तहत दंडनीय है।

विशेष रूप से, प्रशासन ने स्कूलों पर कोई नया प्रतिबंध नहीं लगाया है क्योंकि उनकी ओर से शिक्षा विभाग द्वारा जल्द ही एसओपी का एक अपडेटेड सेट जारी किया जाएगा।

राज्य सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक ये पाबंदियां अगले नोटिस तक राज्य में प्रभावी रहेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *