पॉजिटिव इम्पैक्ट रेटिंग ( Positive Impact Rating) 2021 की ग्लोबल रिपोर्ट में, गोवा मैनेजमेंट संस्थान (जीआईएम) को ऐसे 3 अन्य संस्थानों के साथ "अग्रणी " बी-स्कूल के रूप में स्थान प्रदान किया गया है। यह रिव्यु न्यूयॉर्क में आयोजित यूनाइटेड नेशंस प्रिंसिपल्स फॉर रिस्पांसिबल मैनेजमेंट एजुकेशन (United Nations (UN) PRME – Principles for Responsible Management Education) के वर्चुअल फोरम में रखा गया था। 21 देशों के कुल 46 बिजनेस स्कूलों ने 2021 में इस रेटिंग मॉड्यूल में भाग लिया था।

"पीआईआर दुनिया भर के छात्रों की आवाज है"


संयुक्त राष्ट्र के (PRME) फोरम पहल के पीछे का उद्देश्य जिम्मेदार मैनजमेंट शिक्षा के सिद्धांतों के माध्यम से सस्टेनेबल विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करना है। जीआईएम के डायरेक्टर, अजीत पारुलेकर ने कहा, "हम जीआईएम में पॉजिटिव इम्पैक्ट रेटिंग (पीआईआर) रिपोर्ट 2021 में अग्रणी बदलाव में विश्व स्तर पर टॉप चार बी-स्कूलों में स्थान पाने के लिए सम्मानित मह्सूस कर रहे हैं और अत्यंत प्रसन्न हैं।" यह रेटिंग विश्व स्तर पर मैनेजमेंट संस्थानों द्वारा अतयंत सम्मान से देखे जाने वाली है।

पारुलेकर ने आगे कहा, "पीआईआर दुनिया भर के छात्रों की आवाज है और हमारे लिए सबसे संतोषजनक बात यह है कि जो हमारे मुख्य स्टेकहोल्डर्स हैं, हमारे छात्रों ने सस्टेनेबल विकास के प्रति संस्थान की कोशिशों को स्वीकार किया है और हमें इस तरह के और अधिक पहलुओं को डिजाइन करने के लिए प्रोत्साहित किया है।

585 एंट्रियों को पीछे छोड़ते हुए, 2021 फ्लोरिश पुरस्कार जीता

कुछ ही दिन पहले, GIM ने कुल 585 एंट्रियों में से प्रतिष्ठित 2021 फ्लोरिश पुरस्कार जीता और यह शॉर्टलिस्ट होने वाला भारत का एकमात्र संस्थान भी था। कथित तौर पर, इस प्रमुख मैनेजमेंट संस्थान ने यह खिताब अपने जयपुर रग्स पर कहानी प्रस्तुत करने के कारण जीता जो की (Global Goal #8- Decent Work and Economic Growth) पर केंद्रित है।

गोवा इंस्टीटूट ऑफ़ मैनेजमेंट राज्य का गौरव है और इसे देश के कई बी-स्कूल में पढ़ाई करने का सपना देखने वाले उम्मीदवारों का पसंदीदा विकल्प माना जाता है। द वीक, इंडिया टुडे और दलाल स्ट्रीट जैसे प्रमुख प्रकाशनों द्वारा इसे टॉप -15 प्राइवेट बी-स्कूलों में लगातार माना जाता रहा है।