उत्तर प्रदेश में चिकित्सा व्यवस्था को मजबूत बनाते हुए, 12 नवंबर से 6 मेडिकल कॉलेजों में सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी। कानपुर, आगरा, प्रयागराज, मेरठ, झांसी और गोरखपुर के मेडिकल कॉलेजों में बनाए गए स्पेशियलिटी ब्लॉक में मरीज़ को किडनी, लिवर, हार्ट, न्यूरो से जुड़ी हुई गंभीर बीमारियों का इलाज करवाने की सुविधा मिलेगी।

मेडिकल कॉलेजों में 200 बेड के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक स्थापित किए गए

अब यूपी में लोगों को गंभीर बिमारियों का इलाज करवाने के लिए बड़े शहरो की तरफ नहीं भागना पड़ेगा। इन सुपर स्पेशिलियटी ब्लॉकों को स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य लोगों को उनके शहरों में बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाना है।

रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश के छह मेडिकल कॉलेजों में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (पीएमएसएसवाई) के तहत करीब तीन सौ करोड़ रुपये की लागत से 200 बेड के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक बनाए गए हैं।  झांसी, प्रयागराज सहित कुछ जगह इनका लोकार्पण भी कर दिया गया, लेकिन विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी की वजह से संचालन ठीक से नहीं हो पाया। अब इन्हें दुबारा शुरू करने की तैयारी की गई है।

जल्द ही पूरी क्षमता पर चलेगा स्पेशियलिटी ब्लॉक

चिकित्सा संस्थानों एवं मेडिकल कॉलेजों में इस साल डीएम (डॉक्टरेट ऑफ मेडिसिन) और एमसीएच (मास्टर ऑफ क्यूरिगियाई) की डिग्री पूरी करने वाले सुपर स्पेशियलिटी डॉक्टरों को बॉन्ड के तहत तैनात कर दिया गया है। इनकी तैनाती दो साल के लिए असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर की गई है। करीब छह माह बाद दूसरा बैच भी आ जाएगा। जल्द ही स्पेशियलिटी ब्लॉक पूरी क्षमता पर चलने लगेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *